लद्दाख: भारत ने ठाना चीन की हरकत का उसी की भाषा में देंगे जवाब
लद्दाख: भारत ने ठाना चीन की हरकत का उसी की भाषा में देंगे जवाबSocial Media

लद्दाख: भारत ने ठाना चीन की हरकत का उसी की भाषा में देंगे जवाब

लद्दाख में चीन को जवाब देने के लिए भारत ने ठान लिया कि, वो एक कदम भी पीछे नहीं हटेगा और न ही किसी भी निर्माण कार्य को रोकेगा, वहीं PMO की बैठक में तीनों सेनाओं ने PM मोदी को ब्लूप्रिंट सौंपा।

राज एक्‍सप्रेस। पूर्वी लद्दाख में चीन बौखलाहट में आकर अपनी करतूतों और चालबाजी कर भारत के साथ उलझ रहा है, जिसके कारण अब भारत ने भी उसे कड़ा सबक सिखाने के लिए कमर कसते हुए भारतीय सेना ने कड़ा रुख अपना लिया है, अब भारत चीन को उसी की भाषा में जवाब देने की ठान ली हैं।

ये पांचों मिलकर चीन को देंगे माकूल जवाब :

चीन के साथ तनातनी के हालात के बीते दिन मंगलवार को प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) में लद्दाख के हालातों की स्थितियों पर हाई लेवल मीटिंग हुई, जिसमें चीन को माकूल जवाब देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संग सेना प्रमुखों ने रूपरेखा बना ली होंगी। चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत, राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल और तीनों सेना के चीफ पांचों मिलकर चीन पर वार व माकूल जवाब देंगे।

तीनों सेनाओं ने PM मोदी को सौंपा ब्लूप्रिंट :

PMO में हुई मीटिंग के दौरान तीनों सेनाओं द्वारा मौजूदा हालातों के मद्देनजर आसपास मौजूद डिफेंस असेट्स और तनाव बढ़ने की हालात में रणनीतिक और सामरिक विकल्पों को लेकर सुझाव देने के साथ ही तीनों सेनाओं ने अपनी तैयारियों का ब्लूप्रिंट भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपा हैं।

इसके अलावा ये भी बताया गया है कि, PM मोदी ने अजीत डोभाल और बिपिन रावत से भी हालात की जानकारी ली, इस दौरान CDS जनरल बिपिन रावत ने तीनों सेनाओं की तरफ से मौजूदा स्थिति और उससे निपटने के इनपुट दिए व सेनाओं की तैयारियों का खाका पेश किया।

आखिर क्‍या चाहता है चीन :

दरअसल, बात ये है कि, चीन लद्दाख इलाके में भारत की सड़क और अन्य सामरिक तैयारियां यानी बॉर्डर पर डेवलपमेंट के काम चल रहा है, जिससे चीन को परेशानी हो रही है और वो ये चाहता है कि, भारत इस इलाके में सभी तरह के निर्माण कार्य रोक दे। चीन ने निर्माण रोकने की शर्त रखी है, जिसे भारत मानने को तैयार नहीं।

भारत ने ठान लिया नहीं रोकेंगे निर्माण कार्य :

वहीं, चीन की लद्दाख में हरकत के कारण भारत ने अब ये ठान लिया है कि, वो इस इलाके में किसी भी निर्माण कार्य को नहीं रोकेगा और एक कदम भी पीछे नहीं हटेगा, क्‍योंकि इस बार भारत ने पूर्वी लद्दाख के तनाव वाले इलाके में चीन को जवाब देने के लिए आरपार का मूड बनाने के साथ ही चीन के साथ गतिरोध से अब पीछे न होने का फैसला कर लिया है। साथ ही भारत ने चीन से साफ ये भी कह दिया है कि, वह बॉर्डर पर यथास्थिति बनाए रखे।

डेवलपमेंट्स पर NSA की नजर :

बता दें कि, राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने लगातार वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर डेवलपमेंट्स पर नजर रखी है। इसके अलावा खबरों के अनुसार, उत्‍तरी सिक्किम और उत्‍तराखंड में सीमा पर पिछले दिनों जो भी हलचल मची हुई, उसको लेकर भी अजीत डोभाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co