Raj Express
www.rajexpress.co
सीमा पर भारतीय सेना के जवान।
सीमा पर भारतीय सेना के जवान।|Social Media
भारत

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में पाकिस्तान की फायरिंग में एक जवान शहीद

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में राजोरी जिले के नौशेरा सेक्टर में संघर्षविराम का उल्लंघन किया। इस दौरान पाकिस्तानी सेना ने भारी गोलाबारी व मोर्टार शेलिंग की।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। धारा 370 समाप्त होने के बाद पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की ओर से हुई गोलीबारी में एक जवान शहीद हो गया। इतना ही नहीं अधिकारियों ने बताया है कि जम्मू जिले के अखनूर सेक्टर में भी पाकिस्तानी गोलीबारी में दो जवान घायल हुए हैं।

भारतीय सेना के अधिकारियों के मुताबिक, "आज सुबह पांच बजकर 50 मिनट से सात बजकर 30 मिनट के बीच नौशेरा सेक्टर में संघर्षविराम का उल्लंघन हुआ।" रक्षा मामलों के प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान के सैनिकों की तरफ से गोलीबारी के दौरान शहीद हुए जवान का नाम नायक सुभाष थापा है, वे 25 साल के थे। गोली लगने के बाद थापा को उधमपुर के सैन्य कमान अस्पताल ले जाया गया, लेकिन बाद में उनकी मौत हो गई।

भारत ने उल्लंघनों का मुद्दा उठाया

भारत ने पाकिस्तान के सामने नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम उल्लंघन के दौरान नागरिकों को निशाना बनाये जाने का मुद्दा उठाया है। अगस्त में अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त करने के बाद से इस प्रकार की घटनाएं बढ़ी हैं. सूत्रों के मुताबिक सेना ने एक अक्टूबर को सैन्य संचालन महानिदेशक और उनके पाकिस्तानी समकक्ष के बीच हुई कामकाजी स्तर की वार्ता के दौरान यह मुद्दा उठाया।

इससे पहले गुरूवार दोपहर पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने संघर्षविराम का उल्लंघन करीब साढ़े तीन बजे गुलपुर और किरनी सेक्टर में किया संघर्षविराम का उल्लंघन किया। इस दौरान मोर्टार शेलिंग व फायरिंग की। भारतीय सेना पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

370 पर बौखलाया हुआ है पाकिस्तान

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान पूरी तरह बौखलाया हुआ है और आए दिन संघर्षविराम का उल्लंघन कर आतंकियों की घुसपैठ कराने की फिराक में है। भारतीय सुरक्षा बलों को जानकारी मिली है कि, घाटी में अशांति फैलाने के लिए करीब 500 आतंकी घुसपैठ करने की फिराक में हैं। सैन्य सूत्रों ने बताया कि इसकी जानकारी मिलते ही जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर ऐसी किसी भी अवांछित कोशिश से निपटने के लिए सुरक्षा बलों को पूरी छूट दे दी गई है। जानकारी मिली है कि प्रशिक्षण पाए आतंकी भारतीय सीमा में घुसने की फिराक में हैं और एक बड़ा समूह आतंकी लॉन्च पैड पर इंतजार कर रहा है।