भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत ट्रायल के लिए समुद्र में उतरा
भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत ट्रायल के लिए समुद्र में उतराSocial Media

भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत ट्रायल के लिए समुद्र में उतरा

भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत आज यानी बुधवार दिनांक 4 अगस्त को ट्रायल के लिए समुद्र में उतारा गया। इससे पहले जुलाई के आखिर में विक्रांत के बेसिन ट्रायल सफल रहे थे।

राज एक्सप्रेस। आज भारत कई तरह की बड़ी उपलब्धियां हासिल कर चुका है। चाहे वो किसी भी क्षेत्र में हो। इसी कड़ी में अब भारत ने देश का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत आज यानी बुधवार दिनांक 4 अगस्त को ट्रायल के लिए समुद्र में उतारा। इस मामले में भारत के रक्षा मंत्री कार्यालय से जानकारी सामने आई है। कार्यालय द्वारा इस मामले की सम्पूर्ण जानकारी ट्विटर पर ट्वीट कर दी गयी है।

एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत का ट्रायल :

जी हां, आज का दिन भारतवासियों के लिए गर्व महसूस करने का होना चाहिए क्योंकि, आज भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत ट्रायल के लिए समुद्र में उतारा गया है। हालांकि, यह एयरक्राफ्ट विक्रांत पहले जुलाई के आखिर में के बेसिन ट्रायल में सफलता हासिल कर चुका है। इसी के चलते अब ऐसी उम्मीद की जा रही है कि, विक्रांत को 2022 में नौसेना में शामिल किया जा सकता है। बता दें, इसका नाम INS विक्रांत पर रखा गया है, जिसने 1971 युद्ध में निर्णायक भूमिका निभाई थी।

रक्षा मंत्रालय कार्यालय ने दी जानकारी :

बताते चलें, देशवासियों को यह खुशखबरी रक्षा मंत्रालय कार्यालय ने ट्वीट कर दी है रक्षा मंत्रालय कार्यालय अपने ट्वीट में लिखा है कि,

'स्वदेशी विमान वाहक (IAC(P71)) 'विक्रांत' के समुद्री परीक्षणों की शुरुआत हो चुकी है। एयरक्राफ्ट कैरियर का स्वदेशी निर्माण 'आत्मनिर्भर भारत' और 'मेक इन इंडिया इनिशिएटिव' के लिए देश की खोज में एक जबरदस्त उदाहरण है।

रक्षा मंत्रालय कार्यालय

भारतीय नौसेना ने बताया गौरवान्वित और ऐतिहासिक दिन :

बता दें, भारतीय नौसेना ने देश के पहले स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत के ट्रायल को देश के लिए 'गौरवान्वित करने वाला और ऐतिहासिक' दिन बताया है। नौसेना ने कहा है कि, 'भारत उन चुनिंदा देशों में शुमार हो गया है, जिसके पास स्वदेश में डिजाइन करने, निर्माण करने और अत्याधुनिक विमानवाहक जहाज तैयार करने की विशिष्ट क्षमता है।'

IAC P71 विक्रांत से जुड़ी खास बातें :

  • IAC P71 विक्रांत को करीब 23 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है।

  • कैरियर विक्रांत एयरक्राफ्ट लगभग 262 मीटर लंबा और 62 मीटर चौड़ा है।

  • इसे कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड ने तैयार किया है।

  • इस एयरक्राफ्ट की टॉप स्पीड 52 किलोमीटर प्रति घंटे है।

  • इस एयरक्राफ्ट में 14 फ्लोर हैं और 2300 कंपार्टमेंट हैं।

  • एयरक्राफ्ट पर 1700 नौसैनिक तैनात किए जा सकते हैं।

  • इस एयरक्राफ्ट पर 30 लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टर तैनात किए जा सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.