महाराष्ट्र CM ठाकरे, पवार सहित इन नेताओं को आयकर विभाग का नोटिस
महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे, शरद पवार, आदित्य ठाकरे और सुप्रिया सुले को चुनावी हलफनामें के सिलसिले में आयकर विभाग ने आज मंगलवार को नोटिस भेजा है।
महाराष्ट्र CM ठाकरे, पवार सहित इन नेताओं को आयकर विभाग का नोटिस
महाराष्ट्र CM ठाकरे, पवार सहित इन नेताओं को आयकर विभाग का नोटिसPriyanka Sahu -RE

महाराष्ट्र: देश में मानसून सत्र के दौरान संसद में सरकार और विपक्ष के बीच राजनीतिक घमासान जारी है। वहीं, शिवसेना भी लगातार कृषि विधेयकों का विरोध कर रही है। इसके अलावा पिछले काफी समय से भाजपा और महाराष्ट्र सरकार के बीच तनातनी भी चल रही है और इन सबके बीच आज एक और बड़ी खबर सामने आई है कि, आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार समेत इन नेताओं को नोटिस भेजा है।

चुनावी हलफनामे पर भेजा नोटिस :

दरअसल, पिछले चुनाव में दिए गए हलफनामे को लेकर आयकर विभाग ने महाराष्ट्र CM उद्धव ठाकरे, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे और शरद पवार की बेटी व NCP सांसद सुप्रिया सुले को नोटिस भेजा है। जानकारी के अनुसार, आयकर विभाग की तरफ से भेजे गए इस नोटिस के जरिए पिछले कुछ चुनावों में दाखिल किए गए हलफनामे के सिलसिले में ‘स्पष्टीकरण एवं सफाई' मांगी गई है।

नोटिस मिलने पर बोले शरद पवार :

तो वहीं नोटिस मिलने को लेकर जब एनसीपी प्रमुख शरद पवार से सवाल किया गया, तो उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि, वो लोग (नोटिस भेजने वाले) कुछ लोगों को ज्यादा चाहते हैं। इसके अलावा शरद पवार ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार अपने राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ आयकर विभाग के नोटिस भिजवाकर उनके खिलाफ प्रोपगेंडा रच रही है। तो वहीं, दूसरी तरफ शरद पवार ने निलंबित राज्यसभा सांसदों के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए एक दिन का उपवास रखने की घोषणा की है।

कृषि बिलों को पास कराने के लिए सरकार इतनी जल्दबाजी में क्यों थी? मैंने प्रदर्शन कर रहे सांसदों के समर्थन में एक दिन उपवास रखने का फैसला किया है। सरकार की नीयत भले ही सही हो, लेकिन उन्होंने कभी भी इस तरह से बिलों को पास होते नहीं देखा। बिल पास कराने में जल्दबाजी दिखाई गई, ऐसा तब हुआ जब सांसद कृषि बिलों को लेकर सवाल उठा रहे थे।

एनसीपी प्रमुख शरद पवार

बता दें, निर्वाचन आयोग ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उनके मंत्री बेटे आदित्य ठाकरे, शरद पवार और उनकी सांसद बेटी सुप्रिया सुले के खिलाफ झूठा हलफनामा देने के आरोप की जांच करने का आग्रह किया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co