उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़
उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़Raj Express

जम्मू-कश्मीर नवाचार और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण प्रगति कर रहा: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कठुआ में "उत्तर भारत में उभरते स्टार्टअप रुझान" पर बायोटेक स्टार्टअप एक्सपो को संबोधित कर अपने संबोधन में कही ये बातें...

हाइलाइट्स :

  • कठुआ में उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने बायोटेक स्टार्टअप एक्सपो को संबोधित किया

  • जम्मू और कश्मीर विविध परिदृश्यों, समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और परंपराओं की एक भूमि है: जगदीप धनखड़

दिल्‍ली, भारत। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने आज गुरुवार को कठुआ में "उत्तर भारत में उभरते स्टार्टअप रुझान" पर बायोटेक स्टार्टअप एक्सपो को संबोधित किया।

कठुआ में "उत्तर भारत में उभरते स्टार्टअप रुझान" पर बायोटेक स्टार्टअप एक्सपो को संबोधित कर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा- मुझे 2024 में यह अत्यंत हर्ष की बात है कि कठुआ में मेरा पहला जन समारोह होगा। कठुआ एक पवित्र स्थल है, देशभक्ति का एक महत्वपूर्ण केंद्र है। यहां आकर मैं बहुत भावविभोर हूं, उत्साह से ओत-प्रोत हूं और इस धरती के संदेश को अपने साथ लेकर दिल्ली की ओर प्रस्थान करूंगा।

इस भूमि पर डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की अमिट छाप है। इस भूमि पर एक संकल्प देश के सामने आया है। वह संकल्प इस कालखंड में पूरा हो गया। सोचा नहीं था की 370 कभी खत्म होगा। भारत के संविधान का वह प्रावधान जिसको संविधान में temporary कहा गया वह हमारे लिए नासूर बन गया था। आज कितना अच्छा दिन है की वह प्रावधान देश के कानून में नहीं है। इसके लिए मैं बधाई देता हूं कार्यपालिका को, जिसके हेड है प्रधानमंत्री जी, विधायिका को, लोकसभा राज्यसभा को और न्यायपालिका को। तीनों ने एकमत से आर्टिकल 370 को हमारे संविधान से हटा दिया। डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना पूरी तरह से सफल हुआ है।

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़

  • जम्मू और कश्मीर विविध परिदृश्यों, समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और परंपराओं की एक भूमि है। हम अब इसकी बहाली देखते हैं। पूरी दुनिया इस खिलने की गवाह है। जम्मू-कश्मीर नवाचार और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण प्रगति कर रहा है। इस क्षेत्र में स्टार्टअप क्रांति सराहनीय है।

  • जैव प्रौद्योगिकी में सतत विकास लक्ष्यों में योगदान करने की अपार क्षमता है। भारत सही जगह है जहां इस विशेष लाइन का विकास हो सकता है।

  • जैव प्रौद्योगिकी उद्योग अनुसंधान सहायता परिषद ने देश भर में जैव प्रौद्योगिकी नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र के लिए तेजी से, अभूतपूर्व विकास के लिए उत्प्रेरक के रूप में कार्य किया है। यह क्षेत्र इसका उपरिकेंद्र और तंत्रिकाकेंद्र बनता जा रहा है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co