Raj Express
www.rajexpress.co
श्रीकृष्ण का शिक्षा स्थल उज्जैन
श्रीकृष्ण का शिक्षा स्थल उज्जैन|Syed Dabeer Hussain - RE
भारत

श्रीकृष्ण की शिक्षा स्थली में ‘जन्माष्टमी’ का एक अलग ही आनंद

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव यानी जन्माष्टमी की अलग ही धूम देखने को मिलती है वही श्रीकृष्ण की शिक्षा स्थली ‘उज्जैन’ में इस त्यौहार का अपना एक अलग ही आनंद दिखाई पड़ता है ।

Akshay Dubey

राज एक्सप्रेस। देशभर में जहां भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव यानी जन्माष्टमी की अलग ही धूम देखने को मिलती है। वही श्रीकृष्ण की शिक्षा स्थली 'उज्जैन' में इस त्यौहार का अपना एक अलग ही आनंद दिखाई पड़ता है गौरतलब है की भगवान् श्री कृष्ण ने अपनी सम्पूर्ण शिक्षा और ज्ञान सांदीपनि आश्रम में ही गुरु सांदीपनि से प्राप्त किया था। उज्जैन स्थित महर्षि सांदीपनि आश्रम जो ऋषि सांदीपनि की तप स्थली है। यहां महर्षि ने घोर तपस्या की थी। इसी स्थान पर महर्षि सांदीपनि ने वेदए पुराण शास्त्रादि की शिक्षा हेतु आश्रम का निर्माण करवाया था।

दुनिया भर से आश्रम में श्रद्धालु आते है और श्री कृष्ण की शिक्षा स्थली के रूप में दर्शन करते है जन्मअष्टमी पर देश भर में धूम मचती है और इसी दिन अलग-अलग श्री कृष्ण मंदिर को सजाया जाता है उज्जैन में भी 3 बड़े कृष्ण के मंदिर है

  1. पहला संदीपनी आश्रम कान्हा भगवान श्री कृष्ण ने गुरु संदीपनी से ज्ञान अर्जित किया था और अपने सखा सुदामा और भाई बलराम के साथ उज्जैन में रहे थे
  2. दूसरा मंदिर गोपाल मंदिर है आदि अनादी काल से है और सिंधिया राज घराना इसकी देखभाल करता है
  3. तीसरा अन्तराष्ट्रीय संस्था का इसकोंन मंदिर ए तीनो ही जगह बड़े धूम धाम से कृष्ण जन्म अष्टमी बनायीं जाती है