Hemant Soren : सुप्रीम कोर्ट में होगी हेमंत सोरेन की याचिका पर सुनवाई, मामला 2 फरवरी के लिए सूचीबद्ध

Hemant Soren Petition Will Be Heard In Supreme Court : ईडी अधिकारियों द्वारा देर शाम तक भूमि घोटाला मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के बाद हेमंत सोरेन को गिरफ्तार कर लिया गया था।
Hemant Soren Petition Will Be Heard In Supreme Court
Hemant Soren Petition Will Be Heard In Supreme CourtRaj Express
Submitted By:
gurjeet kaur

हाइलाइट्स :

  • कपिल सिब्बल और एएम सिंघवी ने रखा हेमंत सोरेन का पक्ष।

  • CJI चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ ने की मामले की सुनवाई।

  • वकीलों ने हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी को बताया राजनीति से प्रेरित।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के खिलाफ याचिका की सुनवाई को 2 फरवरी के लिए सूचीबद्ध किया है। 31 जनवरी को प्रवर्तन निदेशायल द्वारा उन्हें गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में याचिका वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल और एएम सिंघवी द्वारा पेश की गई थी। भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ ने मामले की सुनवाई की।

बुधवार को ईडी अधिकारी भूमि घोटाला मनी लॉन्ड्रिंग मामले में हेमंत सोरेन से पूछताछ करने पहुंचे थे। देर शाम तक चली पूछताछ के बाद हेमंत सोरेन को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देते हुए चम्पई सोरेन को मुख्यमंत्री बनाने की बात कही थी। पूर्व मुख्यमंत्री ने इस गिरफ्तारी के बाद उच्च न्यायालय में भी अपील की थी।

कपिल सिब्बल और एएम सिंघवी द्वारा पेश की गई दलीलों के बाद अब सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई करेगा। 2 फरवरी को मामले की सुनवाई होगी। दलीलें पेश करते हुए हेमंत सोरेन का पक्ष रख रहे वकीलों ने इस तरह की गिरफ्तारियों को राजनीति से प्रेरित बताया।

हेमंत सोरेन द्वारा 31 जनवरी को रांची के एससी/एसटी थाने में ईडी अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज करवाई गई थी। JMM नेता हेमंत सोरेनने खुद को अनुसूचित जनजाति का सदस्य बताते हुए इस बात पर जोर दिया था कि, उनके नई दिल्ली परिसर की तलाशी उन्हें और उनके पूरे समुदाय को परेशान करने और बदनाम करने के लिए थी।

हेमंत सोरेन एक दिन के न्यायिक हिरासत :

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी के विशेष जज दिनेश राय ने एक दिन के न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। पीएमएलए कोर्ट में हेमंत सोरेन का पक्ष झारखंड के महाधिवक्ता राजीव रंजन ने रखा और कहा कि यह प्रिडिकेट ऑफेंस नहीं है। ईडी के वकील ने कहा कि आईपीसी की धारा 120बी के तहत कार्रवाई जारी है इसलिए इन्हें कस्टडी में लेना अनिवार्य है। यह कार्रवाई शेड्यूल ऑफ ऑफेंस में आता है।

दोनों पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने हेमंत सोरेन को एक दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजने का आदेश दिया और कहा कि रिमांड पर फैसला कल सुनाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि सोरेन को ईडी की टीम ने भूमि घोटाला मामले में 31 जनवरी की रात को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद आज सुरक्षा के बीच ईडी की विशेष अदालत में पेश किया गया।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co