ED और झारखंड कैबिनेट सचिव के बीच तनातनी, अधिकारियों को समन जारी करने का मामला

ED Reply To Jharkhand Cabinet Secretary Vandana Dadel : ईडी भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों की जांच करता है। इसे जांच के लिए राज्य सरकार की मंजूरी की जरूरत नहीं है।
ED Reply To Jharkhand Cabinet Secretary Vandana Dadel
ED Reply To Jharkhand Cabinet Secretary Vandana DadelRaj Express
Submitted By:
gurjeet kaur

हाइलाइट्स :

  • पिछले दिनों ईडी ने जारी किया था कई अधिकारियों को समन।

  • अवैध खनन घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय कर रहा जांच।

  • ED ने कहा, जवाब मांगने के लिए अधिकृत नहीं कैबिनेट सचिव।

झारखंड। प्रवर्तन निदेशालय ने झारखंड कैबिनेट सचिव के पत्र का जवाब दिया और कहा कि, कैबिनेट सचिव चल रहे जांच में हस्क्षेप करने के लिए अधिकृत नहीं है। झारखंड कैबिनेट सचिव ने प्रवर्तन निदेशालय को पत्र लिख पूछा था कि, साहेबगंज उपायुक्त, रामनिवास यादव सहित अन्य अधिकारियों को किस आधार पर समन जारी किया गया है। इसी सवाल के जवाब में प्रवर्तन निदेशालय ने झारखंड कैबिनेट सचिव को पत्र लिखा है।

दरअसल 11 जनवरी को झारखंड की कैबिनेट सचिव वंदना दादेल ने ईडी को पत्र लिख कर जानकारी मांगी थी कि वह राज्य के सरकारी अधिकारियों को भेजे गये समन के पीछे के पूरे मामले को स्पष्ट करे। यह बताये कि, संबंधित अफसर के विरुद्ध क्या आरोप हैं, एजेंसी को जांच में उनके विरुद्ध कहां - क्या साक्ष्य मिले हैं तथा किस मामले में उनसे पूछताछ की जानी है। राज्य सरकार पूरी जानकारी मिलने के बाद ही सरकारी अधिकारियों को ईडी के सामने भेजने और नहीं भेजने के पर निर्णय लेगी। कैबिनेट सचिव वंदना दादेल ने अपने पत्र में झारखंड सरकार की हाल में हुई कैबिनेट की बैठक में लिये गये निर्णय से ईडी को अवगत कराया था। उल्लेखनीय है कि झारखंड में ईडी मनरेगा घोटाला, अवैध खनन घोटाला, शराब घोटाला और जमीन घोटाला की जांच कर रहा है।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने झारखंड की कैबिनेट सचिव वंदना डाडेल के पत्र का जवाब भेजा। बुधवार को मिली जानकारी के अनुसार ईडी ने वंदना डाडेल को भेजे पत्र में कहा है कि, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में राज्य के किसी भी अधिकारी से जानकारी मांगने और समन जारी करने का कारण पूछने का राज्य सरकार को कोई अधिकार नहीं है। ईडी भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों की जांच करता है। इसे जांच के लिए राज्य सरकार की मंजूरी की जरूरत नहीं है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co