कपिल सिब्बल ने सार्वजनिक आपत्ति वाला ट्वीट हटाकर पेश की सफाई
कपिल सिब्बल ने सार्वजनिक आपत्ति वाला ट्वीट हटाकर पेश की सफाई|Social Media
भारत

कपिल सिब्बल ने सार्वजनिक आपत्ति वाला ट्वीट हटाकर पेश की सफाई

राहुल गांधी की कथित टिप्पणी के बाद कांग्रेस के सीनियर नेता द्वारा जताई गई सार्वजनिक आपत्ति वाले ट्वीट को हटाया और राहुल गांधी पर कपिल सिब्बल ने यू-टर्न लेते हुए सफाई पेश कर कही ये बात...

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

दिल्‍ली, भारत। कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक में आज राहुल गांधी ने नेतृत्व को लेकर 23 नेताओं द्वारा सोनिया को भेजी गई चिट्ठी को भाजपा के साथ मिलीभगत करार दिया, जिस पर कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आजाद उनकर भड़के थे, लेकिन अब राहुल गांधी पर कपिल सिब्बल का कुछ देर बाद ही यू-टर्न ले लिया है और अपने ट्वीट को हटा दिया।

कपिल सिब्बल ने सफाई की पेश :

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल द्वारा जताई गई सार्वजनिक आपत्ति वाले ट्वीट को हटाया और दूसरा ट्वीट कर सफाई पेश करते हुए ये बात कही। कपिल सिब्बल ने ट्विटर के माध्यम से जानकारी देते हुए कहा कि, उन्होंने इस तरह का बयान नहीं दिया, लिहाजा मैं अपने ट्वीट को हटा रहा हूं। राहुल गांधी ने व्यक्तिगत तौर पर बताया कि बीजेपी से मिलने जैसी बात उन्होंने नहीं ही है। उन्होंने ऐसे कुछ भी नहीं कहा है, इसलिए मैं अपना ट्वीट वापस लेता हूं।

इससे पहले कपिल सिब्बल ने अपने ट्वीट कर कहा थी कि, ''राहुल गांधी कहते हैं हम बीजेपी के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। मैंने राजस्थान हाईकोर्ट में कांग्रेस की लड़ाई लड़ी। मणिपुर में पार्टी को डिफेंड करते हुए बीजेपी की सरकार गिराई। 30 साल में बीजेपी के समर्थन में कोई बयान नहीं दिया, फिर भी हम बीजेपी के साथ हाथ मिला रहे हैं।''

तो वहीं रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी ट्वीट कर ये बताया कि, ''राहुल गांधी ने कभी भी ऐसे अल्फाज का इस्तेमाल नहीं किया। इसलिए झूठी अफवाहें और गैर जिम्मेदाराना जानकारी न फैलाएं। हां, हमें एक साथ काम करने की ज़रूरत है ताकि हम मोदी हुकूमत के खिलाफ लड़ाई लड़ सकें।''

बता दें कि, CWC बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि, ''जिस वक्त पत्र भेजा गया उस समय सोनिया गांधी बीमार थी। उन्होंने पत्र की टाइमिंग पर सवाल उठाते हुए ये बात भी कही कि, जब कांग्रेस मध्य प्रदेश और राजस्थान के सियासी संकट का सामना कर रही थीं, जब अध्यक्ष बीमार थी, तब ही चिट्ठी क्यों भेजी गई। जिन्होंने इस वक्त चिट्ठी लिखी है, वो भारतीय जनता पार्टी (BJP) से मिले हुए हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co