श्रद्धालुओं का इंतज़ार हुआ खत्म, कल से खुलेंगे केदारनाथ के कपाट
श्रद्धालुओं का इंतज़ार हुआ खत्म, कल से खुलेंगे केदारनाथ के कपाट Syed Dabeer Hussain - RE

श्रद्धालुओं का इंतज़ार हुआ खत्म, कल से खुलेंगे केदारनाथ के कपाट

यदि आप काफी समय से केदारनाथ धाम की यात्रा करने का मन बना रहे हैं और कपाट खुलने का इंतज़ार कर रहे थे, तो यह खबर शतप्रतिशत आपके काम की है क्योंकि, केदारनाथ धाम के कपाट कल से खोल दिए जाएंगे।

उत्तराखंड, भारत। यदि आप काफी समय से चारधाम यात्रा करने की सोच रहे हैं और आपका मन केदारनाथ धाम जाने का है और आप अब तक दर्शन के लिए कपाट खुलने का इंतज़ार कर रहे थे, तो यह खबर शतप्रतिशत आपके काम की है क्योंकि, केदारनाथ धाम के कपाट कल से खोल दिए जाएंगे। हालांकि, केदारनाथ की यात्रा शुरू होने का अंदाजा वहां के लिए शुरू होने वाली ऑनलाइन बुकिंग से भी लगाया जा सकता था। क्योंकि, उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण (UCADA) ने केदारनाथ धाम जाने के लिए ऑनलाइन बुकिंग 28 सितंबर से ही शुरू कर दी थी।

कल से खुलेंगे केदारनाथ धाम के कपाट :

जो भी यात्री केदारनाथ धाम की यात्रा करने के लिए कपाट खुलने का इंतज़ार कर रहे थे, उनका इंतज़ार अब पूरा हो चला है क्योंकि, अब 24 घंटों से भी कम समय में यानि कल शुक्रवार को बाबा के मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे। इस बीच बाबा केदार की पंचमुखी डोली आज गौरीकुंड से केदारनाथ धाम पहुंच गई है। इस साल श्रद्धालु दो साल बाद बाबा केदारनाथ के दर्शन कर पाएंगे जिसके लिए वह काफी उत्साहित है। इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि, हजारों संख्या की श्रद्धालु केदारनाथ धाम पहुंच चुके है, जो कल कपाट खुलते ही दर्शन करेंगे।

सिर्फ एक मंदिर नहीं :

जैसा की सभी जानते है बाबा केदारनाथ का मंदिर भारत वासियों के लिए केवल श्रद्धा और आस्था का ही केंद्र या कोई मंदिर नहीं है, बल्कि उत्तर और दक्षिण भारत की धार्मिक संस्कृति को दर्शाने वाले एक केंद बिंदु है। बाबा केदारनाथ में पूजा दक्षिण की वीर शैव लिंगायत विधि से होती है। बता दें, इस मंदिर में रावल (पुजारी) के शिष्य पूजा करते हैं। जो कि, कर्नाटक के होते हैं। अब यहां तेजी से श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती नजर आ रही है। लोग जल्दी से जल्दी यहां पहुंच कर दर्शन करने में जुटे हुए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.