लॉकडाउन 4: कोरोना से मची तबाही-देश में 14 दिन और बढ़ी तालाबंदी
लॉकडाउन 4: कोरोना से मची तबाही-देश में 14 दिन और बढ़ी तालाबंदी|Priyanka Sahu -RE
भारत

लॉकडाउन 4: कोरोना से मची तबाही-देश में 14 दिन और बढ़ी तालाबंदी

खतनाक कोरोना वायरस की महामारी के प्रसार को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन-4 लागू हो गया है, इस बार लॉकडाउन की अवधि 14 दिन बढ़ाकर अब 31 मई की गई है, अब क्‍या होगी नई गाइडलाइंस?

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • देश में लॉकडाउन-4 हुआ लागू

  • लॉकडाउन-4 में 14 दिन बढ़ी अवधि

  • देश में 31 मई तक रहेगी तालाबंदी

  • आज लॉकडाउन 3.0 का आखिरी दिन

राज एक्‍सप्रेस। देश में घातक कोरोना वायरस की महामारी के संकटकाल से आखिर कब छुटकारा पाया जाएगा इसका अंदाजा लगाना तो काफी मुश्किल है, लेकिन इस खतरे से भारतवासियों को बचाने के लिए केंद्र की मोदी सरकार द्वारा फिर से तालाबंदी की अवधि बढ़ा दी गई है यानी लॉकडाउन का चौथा चरण भी कल 18 मई से शुरू हो जाएगा।

31 मई तक जारी रहेगा लॉकडाउन :

आज लॉकडाउन-3 की आखिरी तारीख है, इसकी मियाद खत्‍म होते ही अब देश में नए रंग-रूप और नियमों वाला लॉकडाउन-4 लागू कर 14 दिन ओर बढ़ा दिया है। जी हां, लॉकडाउन की अवधि बढ़ाकर अब 31 मई हो गई है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) ने भारत सरकार के मंत्रालयों / विभागों, राज्य सरकारों और राज्य प्राधिकरणों को लॉकडाउन 31 मई 2020 तक जारी रखने का निर्देश दिया है।

क्‍या लॉकडाउन से कम हो रहा कोरोना संक्रमण ?

बता दें कि, भारत में कोरोना की ताबाही के कारण अब तक 4 बार लॉकडाउन किया जा चुका है, तो क्‍या इससे कोरोना संक्रमण कम हो रहा है। अगर देखा जाए तो लॉकडाउन को लगभग 50 दिन से ज्यादा का वक्त हो चुका है, इस दौरान कोविड-19 खत्म तो नहीं हुआ, परंतु पिछले 50 दिनों में दूसरे देशों के मुकाबले भारत में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम जरूर है।

देश में कोरोना की क्‍या स्थिति :

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में कोरोना की स्थिति यह हो गई है, यहां कोरोना का आंकड़ा 90,000 के पार होकर 90,927 मामले, जबकि 34,109 लोग ठीक हो चुके हैं और 2,872 लोगों की मौत हो चुकी है।

लॉकडाउन 4 की गाइडलाइंस रात 9 बजे :

हालांकि, अब लॉकडाउन 4 की गाइडलाइंस क्‍या है, इसकी जानकारी आज रात 9 तक आ सकती है, क्‍योंकि कैबिनेट सचिव राजीव गौबा लॉकडाउन 4.0 के गाइडलाइंस को लेकर आज रात 9 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी राज्यों के मुख्य सचिवों/ महानिदेशकों से चर्चा करेंगे।

माना जा रहा है कि, आर्थिक गतिविधियों को खोलने के लिए नेशनल एग्जिक्यूटिव कमेटी (NEC) गाइडलाइंस में जरूरी बदलाव कर कोविड-19 के प्रसार को रोकने के साथ-साथ आर्थिक गतिविधियों को भी आगे बढ़ाया जा सके।

इन 30 जिलों को नहीं मिलेगी कोई राहत :

इस बार लॉकडाउन-4 में एक दम नया और अलग होगा। साथ ही लॉकडाउन-4 के ऐलान होने से पहले कुछ जिलों की लिस्‍ट भी सामने आई, जो कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित है और इन इलाकों को किसी तरह की कोई राहत नहीं दी जाएगी। कोरोना कहर के कारण ये जिले 'महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई, आईटी हब पुणे ग्रेटर चेन्नई, अहमदाबाद, थाने, दिल्ली, इंदौर, कोलकाता, जयपुर, नाशिक, जोधपुर, आगरा, तिरुवल्लुवर, औरंगाबाद, कुड्डालोर, ग्रेटर हैदराबाद, सूरत, चेंगलपट्टू, अरियालुर, हावड़ा, कुर्नूल, भोपाल, अमृतसर, विल्लुपुरम, वडोदरा, उदयपुर, पालघर, बरहमपुर, सोलापुर और मेरठ' बुरी तरह से प्रभावित हैं। इन जिलों में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 80% या उससे अधिक है।

इन जिलों को नहीं मिलेगी कोई राहत
इन जिलों को नहीं मिलेगी कोई राहत

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co