Monsoon Session: सदन में विपक्ष के जोरदार हंगामे से लोकसभा 22 जुलाई तक स्थगित
Monsoon Session: सदन में विपक्ष के जोरदार हंगामे से लोकसभा 22 जुलाई तक स्थगितSyed Dabeer Hussain - RE

Monsoon Session: सदन में विपक्ष के जोरदार हंगामे से लोकसभा 22 जुलाई तक स्थगित

Monsoon Session: लोकसभा और राज्यसभा सदन की कार्यवाही में विपक्ष के जाेरदार हंगामे से बाधा, अब लोकसभा की कार्यवाही को 22 जुलाई तक स्थगित कर दिया गया है।

Monsoon Session: संसद के मानसून सत्र का आज (20 जुलाई) को दूसरा दिन था और आज भी दोनों सदनों में मानसूत्र सत्र की शुरुआत जोरदार हंगामे के साथ शुरू हुई। विपक्ष के जाेरदार हंगामे के कारण कार्यवाही में आ रही बाधा के चलते लोकसभा को परसाें 22 जुलाई तक स्थगित कर दिया है।

3 बजे ही शुरू हुई थी सदन में कार्यवाही :

विपक्ष के हंगामें के कारण आज लोकसभा की कार्यवाही पहले 3 बजे तक स्‍थगित की गई, इसके बाद जब दोबारा शुरू हुई, तो विपक्ष की ओर से फिर जोरदार हंगामा होने लगा। विपक्ष के सांसद लगातार मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। अब लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कार्यवाही को 22 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। इसके अलावा आज राज्यसभा की कार्यवाही भी 2 बार स्थगित करनी पड़ी और अब राज्यसभा की कार्यवाही कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

बता दें कि, मानसून सत्र के दौरान जहां विपक्षी दल सरकार को किसान आंदोलन, महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर घेरने की कोशिश में है। तो वहीं, विपक्ष के हमलों को फेल करने के लिए सरकार ने भी बड़ी प्लानिंग की है।

सदन में किसने क्‍या कहा :

लोक सभा में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने फोन टैपिंग से जासूसी के आरोप को गलत बताया है। संचार मंत्री ने कहा कि, ''डेटा का जासूसी से कोई संबंध नहीं है, जो रिपोर्ट पेश की गई है उसके तथ्य गुमराह करने वाले हैं और उसमें कोई दम भी नहीं है।''

तमिलनाडु में एक दिन में 234 सीटों पर चुनाव हुए। पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में 294 सीटों पर। संक्रमण दर चुनाव से पहले 2.3% था और इसके बाद यह बढ़कर 33% हो गया। हमारे मुख्यमंत्री को बधाईयां, अब यह वापस 1.8% हो गया है।

तृणमूल कांग्रेस के सांसद शांतनु सेन

तो वहीं, विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने कोविड महामारी को लेकर केंद्र पर हमला बोला और कहा- इतने बड़े देश में कोरोना से कितने लोग मरे क्या ये रहस्य ही बना रहेगा? सरकार देश में कोरोना से 4 लाख से अधिक मौतों की बात बताती है। जो झूठे आंकड़े सरकार जारी कर रही है वो सत्य से दूर हैं।

लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा :

इसके अलावा लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कार्यवाही में आ रही बाधा और विपक्ष के हंगामे को देखते हुए कहा- तख्तियां सदन में लाना नियम-प्रक्रियाओं के विरुद्ध है। आप नियम के तहत नोटिस दें तो हर विषय पर चर्चा को सरकार तैयार है। आप गलत परंपरा डाल रहे हैं। साथ ही लोक सभा की कार्यवाही बाधित कर रहे सांसदों को सदन के अध्यक्ष ने नियम और प्रक्रियाओं का पालन करने को भी कहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co