अग्निपथ पर नया ऐलान करते हुए अनिल पुरी ने कहा- भर्ती प्रक्रिया में नहीं किया कोई बदलाव
अनिल पुरी Social Media

अग्निपथ पर नया ऐलान करते हुए अनिल पुरी ने कहा- भर्ती प्रक्रिया में नहीं किया कोई बदलाव

अग्निपथ योजना पर आज लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा, भर्ती प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं किया गया है। रेजिमेंटल प्रक्रिया अपरिवर्तित रहेगी..

दिल्ली, भारत। भारतीय सेना में 'अग्निपथ योजना' के तहत नई भर्ती को लेकर आए दिन कुछ न कुछ नए ऐलान हो रहे है। अब आज मंगलवार को अग्निपथ योजना को लेकर सेना की तरफ से ब्रीफ कर अग्निवीरों को भी गैलेंट्री अवॉर्ड मिलने की बात कही गई है।

भर्ती प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं किया :

इस दौरान सैन्य मामलों के विभाग के अतिरिक्त सचिव लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा- अगिनपथ योजना 3 चीजों को संतुलित करती है, पहला सशस्त्र बलों के लिए युवा का प्रोफाइल, तकनीकी जानकारी और सेना में शामिल होने के अनुकूल लोग व तीसरा... व्यक्ति को भविष्य के लिए तैयार करना। यह हमारे देश की सुरक्षा का मामला है। किसी ने अफवाह फैला दी कि, सेना के पुराने जवानों को अग्निवीर योजना में भेजा जाएगा। यह एक फर्जी सूचना है।

दुनिया के किसी अन्य देश में भारत के समान जनसांख्यिकीय लाभांश नहीं है। हमारे 50% युवा 25 वर्ष से कम आयु वर्ग के हैं। सेना को इसका अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए।

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी

अग्निवीरों को गैलेंट्री अवॉर्ड दिए जाएंगे :

अनिल पुरी ने आगे यह भी कहा कि, "सेना नौकरी के लिए नहीं है, बल्कि जज्बात और जुनून के लिए है। अग्निपथ योजना के तहत भर्ती पारदर्शी चयन प्रक्रिया के तहत की जाएगी। अग्निवीरों को भी गैलेंट्री अवॉर्ड दिए जाएंगे। भर्ती की पूरी प्रक्रिया पारदर्शी, निष्पक्ष रहेगी।''

तो वहीं, एयर मार्शल एस.के.झा ने कहा- पहले वर्ष में 2 प्रतिशत से शुरू करके अग्निवीरों को अधिक संख्या में धीरे-धीरे शामिल किया जा रहा है। पांचवें वर्ष में यह संख्या लगभग 6 हजार हो जाएगी और 10 वर्ष में लगभग 9 हजार से 10 हजार हो जाएगी। भारतीय वायुसेना में प्रत्येक नामांकन अब केवल 'अग्निवीर वायु' के माध्यम से होगा।

भारतीय वायुसेना की युद्ध क्षमता और तैयारी पर कोई समझौता नहीं किया जा सकता है। भारतीय वायुसेना और भारत सरकार हमें युद्ध के योग्य और युद्ध के लिए तैयार रखने के लिए जो भी जरूरी होगा वो सब कुछ करेगी।

एयर मार्शल एस.के.झा

भर्ती कैलेंडर 22 जून से शुरू :

इसके अलावा भारतीय वायुसेना के वाइस एडमिरल ने बताया कि, ''अग्नीवीर के लिए DG शिपिंग आदेश के अनुसार 4 साल के प्रशिक्षण के बाद वे सीधे मर्चेंट नेवी में जा सकते हैं। हमारा भर्ती कैलेंडर 25 जून के लिए तय किया गया था, लेकिन यह कल यानि 22 जून से शुरू होगा। ऑनलाइन पंजीकरण 1 जुलाई से शुरू होगा।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co