Raj Express
www.rajexpress.co
मध्य प्रदेश के सर्वपल्ली राधाकृष्णन: श्री अनिल उपाध्याय
मध्य प्रदेश के सर्वपल्ली राधाकृष्णन: श्री अनिल उपाध्याय|Syed Dabeer Hussain - RE
भारत

मध्य प्रदेश के सर्वपल्ली राधाकृष्णन: श्री अनिल उपाध्याय

क्यों मध्प्रदेश के रहने वाले अनील उपाध्याय जी को वर्तमान के डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का रूप माना जाता है? ऐसा क्या किया है इन्होंने और क्यों ? आइये जाने इनकी पूरी कहानी विस्तार से।

Vivvan Tiwari

राज एक्सप्रेस। हर व्यक्ति की पूरी लाइफ में एक न एक शिक्षक ऐसा जरूर होता है जिसे वह अपना प्रेरणा स्त्रोत मानता है। आज हम एक ऐसे ही शिक्षक के बारे में जानने जा रहे है, जो न जाने कितने लोगो के प्रेरणा स्त्रोत है और डॉक्टर सर्वपल्ली राधा कृष्णन की छवि लिए हुए हैं। आज इनके बारे में बात करके कोई भी बहुत गौरवान्वित महसूस करेगा। यह एक ऐसे शिक्षक है जो बिना किसी प्रकार के लेनदेन के निष्पक्ष रूप और सरलता से लोगों को उनकी मंज़िल तक पहुंचने में उनकी मदद करने में अपनी पूरी जान लगा दिया करते हैं। आज के युग (कलयुग) में ऐसे शिक्षक का होना अपने आप में ही एक कल्पना के सामान है।

एक 12 साल का बच्चा मुरैना में पशुओं के मेले के बहार एक छोटी सी दुकान लगाता था। उसकी दुकान में हर वो जरूरत का सामान जैसे गोलियां जिसे आज सभी चॉकलेट के नाम से जानते है, बीड़ी जो अब चलन में बहुत कम है, क्योंकि लोग आजकल सिगरेट पीना पसंद करते है, और अन्य ऐसे सामान मिलता था जो, उस पशु मेले में आये पशु विक्रेताओं को जरूरत का होता था। इतना ही नहीं इस दुकान में सभी सामन के उचित रेट मिलते थे। उस बच्चे ने मात्र 12 साल की उम्र में ही समाज सेवा को प्राथमिकता देते हुए इस दुकान की शुरुआत की। उसका मकसद सिर्फ यह था कि, व्यपारी को उचित दाम में सभी सामान पास ही में मिल सके।