डाउन सिड्रोम से ग्रसित इंदौर के अवनीश तिवारी, जिन्होंने हासिल किया प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2024

PM National Children's Award 2024 : पुरूस्कार से सम्मानित इन बच्चों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी संवाद करेंगे और गणतंत्र दिवस के समारोह में इन बच्चों को भी शामिल किया जायेगा।
PM National Children's Award 2024
PM National Children's Award 2024Raj Express
Submitted By:
Deeksha Nandini

हाइलाइट्स

  • राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने मास्टर अवनीश को पदक प्रमाण पत्र देकर किया सम्मानित।

  • 7 वर्ष की आयु मेंअवनीश ने माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप तक सफल ट्रैकिंग की।

  • 2022 में श्रेष्ठ दिव्यांग बालक पुरस्कार पाने वाले वे सबसे कम उम्र के बालक।

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2024 : इंदौर, मध्यप्रदेश। डाउन सिंड्रोम नामक बीमाऋ से पीड़ित होने के बाद भी इंदौर के मास्टर अवनीश तिवारी को सामाजिक क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए प्रधानमंत्री बाल पुरूस्कार से सम्मानित किया गया है। यह पुरूस्कार राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने असाधारण किन्तु प्रतिभावान बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए दिया है। इतना ही नहीं पुरूस्कार से सम्मानित इन बच्चों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी संवाद करेंगे और गणतंत्र दिवस के समारोह में इन बच्चों को भी शामिल किया जायेगा। गौरतलब है कि, अविनीश की यह पहली सफलता नहीं है इससे पहले भी वह 4 वर्ल्ड रिकार्ड और 30 से ज्यादा एक्सीलेंस अवार्ड अपने नाम कर चुके है।

राष्ट्रपति ने नई दिल्ली में असाधारण प्रतिभावान बच्चों के पुरस्कार समारोह में मध्यप्रदेश के मास्टर अवनीश तिवारी को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2024 से सम्मानित किया। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने मास्टर अवनीश को पदक, प्रमाण पत्र और प्रशस्ति पत्र दिया। इंदौर के 9 वर्षीय मास्टर अवनीश को सामाजिक सेवा में उत्कृष्टता के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया गया है। आइये अब जानते है कौन है अवनीश और उनके द्वारा रचित कीर्तिमान...।

अवनीश तिवारी और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू
अवनीश तिवारी और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू Raj Express

कौन है अवनीश तिवारी ?

मास्टर अवनीश मध्यप्रदेश के इंदौर के रहने वाले है। अवनीश डाउन्स सिंड्रोम से प्रभावित एक विशेष बालक हैं। 7 वर्ष की आयु में उन्होंने माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप तक सफल ट्रैकिंग की है। वर्ष 2022 में श्रेष्ठ दिव्यांग बालक पुरस्कार पाने वाले वे सबसे कम उम्र के बालक।

इंदौर के अवनीश तिवारी के कीर्तिमान :

अपने कारनामों की सूची में अवनीश ने चार वर्ल्ड रिकार्ड भी शामिल कर रखे हैं। उन्हें 30 से ज्यादा एक्सीलेंस अवार्ड और वर्ष 2023 में चाइल्ड आइकान अवार्ड भी दिया जा चुका है। इसके अलावा डाउन सिंड्रोम एक्सीलेंस अवार्ड से भी उन्हें सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने करीब 1000 अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय सेमिनार में संबोधन भी दिया है। यही नहीं सात वर्ष की उम्र में माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई कर चुके हैं, ऐसा करने वाले वे दुनिया के पहले बालक थे। पांच दिनों में उन्होंने अपने पिता के साथ एवरेस्ट की चढ़ाई की।

क्या है डाउन सिंड्रोम

डाउन सिंड्रोम एक क्रोमोसोम विकार है जो अतिरिक्त क्रोमोसोम 21 होने के कारण होता है। इसके कारण बौद्धिक अक्षमता और शारीरिक असामान्यताएं हो सकती हैं। डाउन सिंड्रोम अतिरिक्त क्रोमोसोम 21 होने के कारण होता है।

सीएम ने की तारीफ :

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने अवनीश की तारीफ करते हुए कहा कि, बेटा अवनीश हमें तुम पर गर्व है! अवनीश तिवारी को सामाजिक सेवा के क्षेत्र में असाधारण कार्य के लिए 'प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2024' से सम्मानित होने पर हार्दिक बधाई! मुझे गर्व के साथ आनंद है कि आपको यह पुरस्कार कल महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु जी के कर कमलों से उनके आशीर्वाद के साथ प्राप्त हुआ है। बेटा आप सदैव स्वस्थ एवं आनंदित रहें और ऐसे ही समाज के उत्थान में अपना योगदान देते रहें, मेरी शुभकामनाएं और आशीर्वाद सदैव आपके साथ हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co