हमीदिया में पटरी पर व्यवस्था
हमीदिया में पटरी पर व्यवस्थाRE-Bhopal

Bhopal News: हमीदिया में पटरी पर व्यवस्था, रविवार को 11 मरीजों के किये गए ऑपरेशन- सोमवार से बढ़ेगी भीड़

Junior Doctors Strike: गांधी मेडीकल कॉलेज में छात्रा बाला सरस्वती आत्महत्या को लेकर जूडा ने कामबंद हड़ताल की थी।

हाईलाइट्स:

  • महिलाओं के 4, हड्डी 3 और पेट संबंधी सर्जरी के चार केस।

  • बाहर से आये मरीजों का अस्पताल में डेरा।

  • पांच दिन की हड़ताल के बाद काम पर लौटे जूनियर डाक्टर।

भोपाल। पांच दिन की हड़ताल के बाद काम पर लौटे जूनियर डाक्टरों ने तड़पते मरीजों को बड़ी राहत दी है। रविवार को अवकाश था, लेकिन आपातकालीन सेवाओं में गंभीर रूप से बीमार 11 मरीजों के ऑपरेशन किए गए। सोमवार को दो दर्जन मरीजों के ऑपरेशन निश्चित किए गए हैं। इधर इमरजेंसी में बैठे दो डाक्टरों के पास दिन भर अन्य रोगों के मरीजों की भीड़ लगी रही। गांधी मेडीकल कॉलेज में छात्रा बाला सरस्वती आत्महत्या को लेकर जूडा ने कामबंद हड़ताल की थी।

31 जुलाई सेे इन्होंने कोई काम नहीं किया था। नतीजतन सबसे अधिक मुसीबत मरीजों की हुई है। इनकी एक ही मांग थी कि मेडीकल कॉलेज से गायनिक विभागध्यक्ष डा. अरूणा कुमार को हटाया जाए। हड़ताल के दौरान प्रशासन भी चिंतित रहा। कलेक्टर स्वयं डाक्टरों से चर्चा करने के लिए मौके पर पहुंचे थे, लेकिन नतीजा सकारात्मक नहीं निकला। तब हड़ताल से चिंतित सरकार की ओर से चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को मोर्चा संभालना पड़ा था।

शनिवार को मंत्री से डाक्टरों की हर बिंदु पर चर्चा हुई। जूडा ने जितनी मांगें रखी थीं, उन सभी को मान लिया गया था। डा. अरूणा कुमार को कॉलेज से हटाने संबंधी आदेश जारी होने के तत्काल बाद जूडा ने काम पर लौटने की घोषणा की थी।

आपातकालीन सेवा में ऑपरेशन:

पिछले पांच दिनों से तड़पते उन मरीजों को रविवार की सुबह से ही बड़ी राहत मिली, जिनका ऑपरेशन परीक्षण के बाद डाक्टरों ने तय किया था।इन मरीजों को प्रात: 9 बजे से ही ऑपरेशन थियेटर में ले जाने का सिलसिला प्रारंभ हुआ। दोपहर 12 बजे तक गायनिक में चार महिलाओं के ऑपरेशन हुए थे। डाक्टरों के अनुसार इसके बाद शाम 5 बजे के बाद 7 मरीज थिएटर पहुंचे थे। इनमें तीन हड्डी एवं चार पेट संबंधी सर्जरी के थे। जहां इनका सफल ऑपरेशन किया गया। डाक्टरों का कहना है कि सोमवार से विधिवत काम होगा। जूडा के काम पर लौटने से समय पर मरीजों को उपचार की सुविधा उपलब्ध होगी।

इमरजेंसी में अन्य रोगों के मरीज पहुंचे:

सोमवार को इमरजेंसी में आईफ्लू, कमर दर्द, बुखार और पेट संबंधी बीमारियों की हमीदिया में भीड़ बढ़ी। हालांकि अवकाश होने के कारण इनकी जांच तो नहीं हो पाई, लेकिन डाक्टरों ने परामर्श देकर पर्चे पर इन्हें राहत के तौर पर दवाएं लिखीं। इन्हें सलाह भी दी गई कि सोमवार को विधिवत जांच कराएं। उसके बाद उन्हें विधिवत दवाएं दी जाएंगी।

पूरे समर्पण भाव से करेंगे मरीजों की सेवा:

जूडा इस संबंध में जूडा अध्यक्ष संकेत सिटे ने बताया कि हमारी पांच दिन की हड़ताल में मरीजो को जो असुविधा हुई है, उसके लिए वे संगठन की ओर से खेद प्रकट करते हैं। इसके साथ ही सोमवार से सभी डाक्टर काम पर लौटेंगे। शासन और विभाग के जो दिशा निर्देश होंगे, उनका पूरा पालन करते हुए काम पर किया जाएगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co