सामुदायिक आयुष चिकित्सकों ने आयुष मंत्री से की मुलाकात
सामुदायिक आयुष चिकित्सकों ने आयुष मंत्री से की मुलाकातRE

सामुदायिक आयुष चिकित्सकों ने आयुष मंत्री से की मुलाकात, ग्रेड पे बढ़ाने की मांग पर की चर्चा

भोपाल, मध्यप्रदेश। विभाग द्वारा इन चिकित्सको को सम्मान जनक कैडर न देकर तृतीय श्रेणी में शामिल करने की तैयारी कर रहा है, जो की न्यायसंगत नहीं है।

हाइलाइट्स

  • CAMO को आयुष विभाग के अधिकारी नियमित आयुष चिकित्सा अधिकारी के समकक्ष नहीं मान रहे।

  • मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा के बाद भी विभाग के अधिकारी उनके साथ ये भेदभाव जारी।

  • आयुष विभाग को ज्ञापन सौंपा गया था पर कोई कार्यवाई अब तक नहीं की गई।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणा के बाद भी आयुष विभाग के संविदा सामुदायिक आयुष चिकित्सा अधिकारियों (CAMO) को आयुष विभाग के अधिकारी नियमित आयुष चिकित्सा अधिकारी (AMO) के समकक्ष नहीं मान रहे हैं, जबकि ये चिकित्सक नियमित पद से पूर्णता की समकक्षता रखते हैं। फिर भी विभाग द्वारा इन चिकित्सको को सम्मान जनक कैडर न देकर तृतीय श्रेणी में शामिल करने की तैयारी कर रहा है, जो की न्यायसंगत नहीं है।

संघ के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ कृष्णकांत भार्गव ने बताया कि, सामुदायिक आयुष चिकित्सा अधिकारी संघ इस बात से हैरान है कि, मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा के बाद भी विभाग के अधिकारी उनके साथ ये भेदभाव क्यों कर रहे है। सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी चिकित्सक संघ ने वेतन विसंगति को दूर कर 5400 ग्रेड पे करने की मांग की है। यह नियमित पद का न्यूनतम ग्रेड पे है। इसको लेकर आयुष विभाग को ज्ञापन सौंपा गया था पर कोई कार्यवाई अब तक नहीं की गई है।

इस संबंध में संघ की प्रदेश कार्यकारणी से डॉ रवीकांत, डॉ रेशमा अर्शे, डॉ रूपाली बिसेन, डॉ आशीष घोडे़श्वर, रोहित ठाकुर व उनकी टीम ने अपनी समस्याओं को लेकर आयुष मंत्री रामकिशोर कांवरे से उनके निज निवास में भेंट कर उनका आभार व्यक्त करते हुए ज्ञापन दिया। मंत्री जी ने आश्वाशन दिया कि आपके साथ अन्याय नहीं होने दिया जावेगा। आयुष मेडिकल एसोसिएशन के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ राकेश पाण्डेय ने मांग का समर्थन करते हुये मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप की मांग करते हुये प्रदेश के शेष समस्त सामुदायिक आयुष चिकित्सकों का 5400 ग्रेड पे करने का आग्रह किया।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co