विंड पॉवर प्लांट के लिए लोन लेगा निगम
विंड पॉवर प्लांट के लिए लोन लेगा निगमRaj Express

Bhopal : विंड पॉवर प्लांट के लिए लोन लेगा निगम, बैंकों से किया संपर्क

भोपाल, मध्यप्रदेश : मंगलवार को निगम प्रशासन की ओर से इसके ऑफर भी जारी किए गए। यह प्लांट नीमच में लगेगा। हाल ही में इसकी मंजूरी के लिए परिषद में प्रस्ताव रखा गया था।

भोपाल, मध्यप्रदेश। सौर ऊर्जा प्लांट और विंड पॉवर प्लांट के लिए नगर निगम लोन लेने जा रहा है। इसके लिए निगम ने बैंकर्स से संपर्क करना शुरू कर दिया है। मंगलवार को निगम प्रशासन की ओर से इसके ऑफर भी जारी किए गए। यह प्लांट नीमच में लगेगा। हाल ही में इसकी मंजूरी के लिए परिषद में प्रस्ताव रखा गया था। लेकिन चर्चा से पहले ही महापौर मालती राय ने प्रस्ताव वापस ले लिया। अब ऊर्जा विभाग से दोनों प्रस्तावों की टीप ली जाएगी। जबकि पिछली 3 नवंबर 2022 की बैठक में इन्हीं प्रस्ताव को लेकर परिषद में हंगामा हो चुका है।

दरअसल नगर निगम 21 मेगावॉट का सौर ऊर्जा और 15 मेगावॉट का विंड पॉवर प्रोजेक्ट लगाना चाहता है। यह दोनों प्रोजेक्ट करीब 90 करोड़ रूपए के हैं। जिसमें निगम की भी हिस्सेदारी रहेगी। निगम यह प्रोजेक्ट अपने बिजली खर्च को बचाने के लिए लाया है। बीते सप्ताह 21 जनवरी को आयोजित हुई परिषद बैठक में इन प्रस्तावों को रखा जाना था, लेकिन महापौर मालती राय ने चर्चा शुरू होने से पहले ही प्रस्ताव वापस लेने की सूचना परिषद अध्यक्ष किशन सूर्यवंशी को दी।

बैंकर्स से बुलाए ऑफर :

मंगलवार को नगर निगम ने ऑन लाईन ऑफर के लिए सूचना जारी की। निगम ने सभी सरकारी और निजी बैंकर्स से कम ब्याज दर पर लोन के लिए ऑफर बुलाए हैं। इसमें यह भी बताया गया कि निगम 15 साल में यह कर्ज चुकाएगा। इसकी गारंटी के तौर पर निगम ने राजस्व वसूली का हवाला दिया। अगले महीने 10 फरवरी इसकी तारीख निर्धारित की गई है।

दो प्रोजेक्ट के लिए चाहिए लोन :

21 मेगावाट का सौर ऊर्जा प्लांट नगर निगम लगाना चाहता है। सौर ऊर्जा से जो बिजली बनेगी उसका भुगतान 3.47 प्रति यूनिट की दर से 25 सालों तक होगा। यानि बिजली कंपनियां भले ही अपना टेरिफ प्लान बढ़ा दें, लेकिन निगम को 3.47 प्रति यूनिट दर से ही बिजली मिलेगी। पानी और सीवेज प्लांट में इस बिजली का उपयोग होगा। प्रोजेक्ट के तहत 21 मेगावाट प्लांट से हर साल लगभग 3.60 करोड़ यूनिट बिजली पैदा होगी। जिसका उपयोग ओपन एक्सेस के माध्यम से निगम के उच्च दाब कनेक्शन, जलापूर्ति और सीवेज पंप संचालन में किया जाएगा। इससे 8.60 करोड़ की बचत होने का दावा किया जा रहा है।

15 मेगावाट का विंड पावर :

15 मेगावाट का विंड पावर प्रोजेक्ट नीमच के पास पहाड़ी पर लगेगा। इस प्रोजेक्ट की कुल लागत 75 करोड़ रूपए है, जिसमें से निगम को 30 करोड़ अंश दान के रूप में देना हैं। यह हिस्सेदारी इसलिए रखी गई है, केप्टिव पावर प्लांट का लाभ निगम भोपाल को मिल सके। प्रोजेक्ट से साल में कम से कम 2 करोड़ 63 लाख यूनिट और अधिकतम 3 करोड़ 41 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन निगम को मिलेगा। अनुबंध के मुताबिक उत्पादित बिजली की प्रति यूनिट दर 4 रूपए 24 पैसे तय की गई है। वर्तमान में निगम प्रति यूनिट 5 रूपए 96 पैसे के हिसाब से बिजली कंपनी को पैसा देता है। प्रोजेक्ट शुरू होने के बाद निगम को सबसे पहले प्रति यूनिट 1 रूपए 72 पैसे की शुद्ध बचत होगी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co