जिला शिक्षा अधिकारी ने अनुसूचित जाति की महिला को से बाहर निकाला
जिला शिक्षा अधिकारी ने अनुसूचित जाति की महिला को से बाहर निकालाRE

जिला शिक्षा अधिकारी ने अनुसूचित जाति की महिला कर्मचारी से गाली-गलौच कर कमरे से बाहर निकाला...

Bhopal News: प्राचार्य समेत महिला कर्मचारी ने जेडी भोपाल से शिकायत कर कार्यवाही के लिए दिया आवेदन, अजाक्स डीईओ को हटाने सोमवार को करेगा प्रदर्शन।

भोपाल। जिला शिक्षा अधिकारी अंजनी कुमार त्रिपाठी ने अनुसूचित जाति की महिला कर्मचारी से गाली-गलौच कर कमरे से बाहर निकाल दिया। डीईओ ने अन्य मामले में एक महिला प्राचार्य के साथ भी अभद्र व्यवहार किया है। अलग-अलग दोनों मामलों में महिलाओं ने आयुक्त लोक शिक्षण अनुभा श्रीवास्तव व संभागीय संयुक्त संचालक अरविंद कुमार चौरगढ़े के पास लिखित शिकायती आवेदन दिया है। मामले की जांच के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी। वहीं, मामले को लेकर अजाक्स ने सोमवार को प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में सहायक ग्रेड तीन महिला कर्मचारी पदस्थ है। वह अनुसूचित जाति वर्ग से है। उन्होंने प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि शमी व संभागीय संयुक्त संचालक को दिए गए शिकायती आवेदन में बताया कि बीती 10 अगस्त व 21 सितंबर को जिला शिक्षा अधिकारी अंजनी कुमार त्रिपाठी ने अपने कक्ष में बुलाकर एक फाइल को लेकर मेरे साथ जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली-गलौच की। उन्होंने अभद्र व्यवहार करते हुए मुझे से कमरे से बाहर निकाल दिया। साथ ही कहा कि कभी इस आफिस में दिख मत जाना, नहीं तो अनुशासनात्मक कार्यवाही कर दूंगा। पहली बार इस तरह की घटना को लेकर डर के कारण कोई शिकायत नहीं की।

इसकी पुनरावृत्ति होने पर मुझे शिकायत करने के लिए मजबूर होना पड़ा। डीईओ त्रिपाठी की कार्यशैली व व्यवहार से कार्यालय के सभी कर्मचारी व आम जनता परेशान है। डीईओ वरिष्ठ अधिकारियों के लिए भी हमेशा सार्वजनिक रूप से अभद्र भाषा का प्रयोग करते रहते है। महिला कर्मचारियों के प्रति भी उनका व्यवहार हमेशा आपत्तिजनक रहता है। डीईओ के व्यवहार पर उचित निर्णय लेने की कृपा करें। वहीं, एक अन्य मामले में फंदा ग्रामीण इलाके की एक हायर सेकेंडरी स्कूल की प्राचार्य ने डीईओ त्रिपाठी पर अभद्र व्यवहार का आरोप लगात हुए संभागीय संयुक्त संचालक को लिखित शिकायती आवेदन देकर कार्यवाही की मांग की है।

डीईओ दफ्तर में की गई तोडफ़ोड़ को लेकर कोई कार्यवाही नहीं

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में गत दिवस गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने कक्ष का ताला तोड़ डीईओ के कक्ष में तोडफ़ोड़ कर दी थी। मामले में दोषियों के विरुद्घ पुलिस कार्यवाही होना चाहिए थी। लेकिन डीईओ का कहना है कि मेरे सामने घटना नहीं हुई थी। इसलिए कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

इनका कहना

जिला शिक्षा अधिकारी के खिलाफ एक महिला प्राचार्य व एक महिला कर्मचारी की शिकायत मिली है। दोनों के आवेदन आगे की कार्यवाही के लिए आयुक्त लोक शिक्षण को भेज दिए गए है। दोनों मामलों में जल्द ही जांच कर कार्यवाही की जाएगी।

अरविंद कुमार चौरगढ़े, संभागीय संयुक्त संचालक भोपाल संभाग

मेरे खिलाफ षड्यंत्र रचा जा रहा है। मैं किसी महिला से ऐसा नहीं कह सकता हूं। सभी आरोप झूठे है। गत दिवस कार्यालय में जो कुछ हुआ, वह मेरे सामने नहीं हुआ था। इसलिए मेरी तरफ से कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

अंजनी कुमार त्रिपाठी, जिला शिक्षा अधिकारी

जिला शिक्षा अधिकारी भोपाल द्वारा एक महिला कर्मचारी के साथ जातिगत व अपमानजनक कार्यशैली की घोर निंदा करता है। आयुक्त लोक शिक्षण से संघ द्वारा मांग की जाती है कि ऐसी कुंठित मानसिकता के लोगों को भोपाल से तत्काल हटाया जाए। डीईओ पर अनुशासनात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। डीईओ के खिलाफ कार्यवाही के लिए सोमवार को प्रदर्शन किया जाएगा।

विनोद सिंह बट्टी, जिला अध्यक्ष अजाक्स

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co