ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में CM शिवराज
ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में CM शिवराज Social Media

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में बोले CM शिवराज- MP में विकास का रोडमैप तैयार, बस आपके साथ की जरूरत

मध्य प्रदेश के इंदौर में आज से ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के उद्घाटन सत्र में CM शिवराज सिंह ने दुनिया भर के प्रतिनिधियों का स्वागत किया एवं अपने भाषण में कही ये अहम बातें...

इंदौर, मध्‍य प्रदेश। मध्य प्रदेश के इंदौर में आज से ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 का उद्घाटन सत्र आयोजित हुआ, इस समिट का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुभारंभ किया गया है। इस दौरान मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 में यह भाषण दिया। साथ ही दुनिया भर के प्रतिनिधियों का स्वागत किया। समिट में अमेरिका से केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल जुड़े। साथ ही सूरीनाम और गुयाना के राष्ट्रपति मंच पर मौजूद रहे।

ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस में मध्यप्रदेश नंबर एक पर है :

इंदौर के ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के उद्घाटन सत्र में CM शिवराज सिंह चौहान ने कहा- मैं विभिन्न देशों के राजदूतों, निवेशकों, उद्योग जगत के दिग्गजों, दोस्तों और दुनिया भर के प्रतिनिधियों का हृदय से स्वागत करता हूं. आपके स्वागत में मध्यप्रदेश ने पलक पावड़े बिछाए है। एमपी की साढ़े आठ करोड़ जनता ने आपका स्वागत किया है। मैं आपके साथ मिलकर आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाना चाहता हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी परसों हमारे बीच पधारे थे, उनके नेतृत्व में एक नए भारत का उदय हो रहा है। आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए मुझे आप सभी के साथ आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाना है, इसके लिए हमने रोडमैप बना लिया है।

एक जमाना था जब मध्यप्रदेश बीमारू राज्य हुआ करता था। आज प्रदेश की ग्रोथ रेट 19.76% है, जो देश में सबसे ज्यादा है। हम तेज गति से आगे बढ़ रहे हैं। देश की जीएसडीपी में हमारा योगदान पहले 3.6% हुआ करता था, आज बढ़कर 4.6% हो गया है। भारत में अभी गुड गवर्नेंस की रैंकिंग हुई और ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस में मध्यप्रदेश नंबर एक पर है।

मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

  • हमारे पास उद्योगों के लिए जमीन की पर्याप्त उपलब्धता है। 2 लाख हेक्टेयर का लैंड बैंक हमारे पास है। निवेशक मैप पर उंगली रखकर बता दें कि हमें यहां जमीन चाहिए, हम 24 घंटे में उपलब्ध करवा देंगे। इस साल हमारा निर्यात ₹60000 करोड़ से ज्यादा का हुआ है। रीवा का सोलर प्लांट दिल्ली मेट्रो को बिजली देता है।

  • हमारे यहां कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग हो रही है, आप बताइये कि आपको क्या चाहिये? रेट पहले से तय हो जायेगा और हमारे किसान उगाकर आपको दे देंगे। उद्योगपति, किसान और सरकार मिलकर काम करेंगे।

  • एक जमाना था मध्यप्रदेश में बिजली आती-जाती थी, लेकिन अब 24×7 बिजली हमारे पास है। मध्यप्रदेश में 26 हजार 800 मेगावाट की स्थापित क्षमता है। मध्यप्रदेश की बिजली से दिल्ली की मेट्रो चल रही है।

  • अकेले पीथमपुर ऑटो क्लस्टर में 25 हजार लोग कार्यरत हैं। ऑटो मोबाइल सेक्टर के लिए जो आवश्यक इन्फ्रा चाहिये, वह सबकुछ हमारे यहां उपलब्ध है। हमारी पूरी ब्यूरोक्रेसी आपको सपोर्ट करती है। मंत्री खुद आपको सहयोग करेंगे। मैं मध्यप्रदेश का केवल सीएम नहीं बल्कि सीईओ भी हूं।

  • टेक्सटाइल और गारमेंट्स में मेरी रुचि ही इसलिए ज्यादा है, क्योंकि ये सेक्टर रोजगार अधिक देते हैं। मध्यप्रदेश में बहन और बेटियां बड़ी संख्या में कार्यरत हैं। तीन-तीन शिफ्टों में यहां काम हो रहे।

  • मध्यप्रदेश में स्वच्छता, हरियाली, सुरक्षा, शांति और ईज़ ऑफ लीविंग है। आईटी सेक्टर को फलने-फूलने के लिए इससे ज्यादा और क्या चाहिये। आईटी की अगली डेस्टिनेशन मध्यप्रदेश ही है। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने जीरो कॉर्बन का जो संकल्प लिया है, उसको पूरा करने में भी मध्यप्रदेश कोई कसर नहीं छोड़ेगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co