Think20
Think20Social Media

PM मोदी ने पृथ्वी बचाने के लिए वसुधैव कुटुंबकम के साथ One Earth, One Family, One Future का किया आह्वान: सीएम

MP: सीएम ने कहा कि, केवल G20 ही नहीं, दुनिया के सभी देश एक साथ आ जायें और साझा विचार करें कि कैसे सबका कल्याण हो! यह Think20 की बैठक इस दिशा में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी, ऐसा मेरा विश्वास है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज G20 के अंतर्गत Think20 की बैठक भोपाल में हो रही है, थिंक-20 की दो दिवसीय बैठक के प्रथम सत्र का उद्घाटन करते हुए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने संबोधन में कहा है कि, प्रधानमंत्री ने पृथ्वी बचाने के लिए वसुधैव कुटुंबकम के साथ One Earth, One Family, One Future का आह्वान किया है। भविष्य तभी सुरक्षित होगा, जब पर्यावरण संरक्षण होगा। पर्यावरण का संरक्षण पौधरोपण से हो सकता है।

सीएम ने बताया ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ का महत्व:

वहीं सीएम ने कहा कि, दुनियाभर के बुद्धिजीवी और विचारक मध्यप्रदेश पधारे हैं। आज मुझे लग रहा है कि भोपाल कैपिटल ऑफ इंटेलेक्चुअल हो गई है। मैं सभी का हृदय से स्वागत करता हूं साथ ही सीएम ने 'वसुधैव कुटुम्बकम्’ का महत्व बताया और ट्वीट कर लिखा- पीएम ने G20 का सूत्रवाक्य 'One Earth,One Family,One Future' दिया है, इसलिए संघर्ष नहीं, समन्वय, शांति व प्रेम-विश्वास हो।

  • One Earth-ये पृथ्वी हम सभी के लिए एक है

  • One Family-पूरा विश्व एक परिवार है

  • One Future-एक-दूसरे से आगे निकलने की अंधी दौड़ न लगाएं

Think20
भोपाल में G20 के अंतर्गत विशेष थिंक 20 कार्यक्रम की दो दिवसीय बैठक का सीएम ने किया शुभारंभ

भौतिक प्रगति की चाह में प्रकृति के दोहन से आए कई संकट : शिवराज

आज मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भौतिक प्रगति की चाहत में प्रकृति के अंधाधुंध दोहन के चलते आज हम क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वार्मिंग जैसे संकट का सामना कर रहे हैं। भारत ने हजारों वर्ष पहले कहा कि एक ही चेतना सब में है। यह चेतना केवल मनुष्य मात्र में नहीं प्राणियों में भी है, इसीलिए भारत में गो पूजा से लेकर प्रकृति पूजा तक की जाती है। भारत ने कहा कि आत्मवत सर्वभूतेषु, अपने जैसा सबको मानो। उन्होंने दूरदराज से आए अतिथियों से कहा कि मध्यप्रदेश टाइगर स्टेट है। यहां 11 टाइगर पार्क हैं। उन्होंने सभी से मध्यप्रदेश का वन्य जीवन देखने का आग्रह भी किया।

सीएम ने कहा कि हमें प्रकृति का दोहन करना चाहिए, शोषण नहीं। दोहन का अर्थ है वृक्ष में फल लगे हैं, तो उन्हें तोड़ कर खाए, लेकिन यदि पेड़ ही काट दें तो यह होगा शोषण। मानवता के कल्याण के लिए प्रकृति का संरक्षण आवश्यक है। हम सभी ने भौतिक प्रगति की चाह में प्रकृति का दोहन किया, जिसके कारण आज हम क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वार्मिंग के संकट का सामना कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में जलाभिषेक अभियान चला कर तय किया गया कि गाँव का पानी गाँव में और खेत का पानी खेत में रोकेंगे। जनता के सहयोग से लगभग साढ़े चार लाख वॉटर बॉडीज बनाईं जो वॉटर रिचार्जिंग का काम कर रहीं हैं।

सबके लिए जो न्यूनतम आवश्यकताएं हैं, पूरी हों: CM

आगे उन्होंने कहा कि सबके लिए जो न्यूनतम आवश्यकताएं हैं, पूरी हों। इसके लिए संघर्ष नहीं समन्वय, युद्ध नहीं, शांति। सर्ववाइल ऑफ द फिटेस्ट जंगल का कानून है। जो कमजोर है, उसको भी आगे लाने की कोशिश हो। सीएम ने कहा कि केवल जी-20 ही नहीं, दुनिया के सभी देश एक साथ आ जायें और साझा विचार करें कि कैसे सबका कल्याण हो। उन्होंने विश्वास जताया कि यह बैठक इस दिशा में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी। केवल #G20 ही नहीं, दुनिया के सभी देश एक साथ आ जायें और साझा विचार करें कि कैसे सबका कल्याण हो! यह #Think20India की बैठक इस दिशा में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी, ऐसा मेरा विश्वास है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co