दिग्विजय सिंह
दिग्विजय सिंहRE-Bhopal

कांग्रेस ने कभी भी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का विरोध नहीं किया: दिग्विजय सिंह

Digvijaya Singh Statement: अयोध्या के राम मंदिर को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर हमला बोला है।

हाइलाइट्स :

  • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का सामने आया बड़ा बयान

  • अयोध्या के राम मंदिर को लेकर दिग्गी ने भाजपा पर हमला बोला

  • दिग्विजय सिंह बोले- कांग्रेस ने कभी राम मंदिर का विरोध नहीं किया

Digvijaya Singh Statement: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान सामने आया है। दिग्विजय सिंह ने अयोध्या के राम मंदिर को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला बोला और कहा कि, कांग्रेस ने कभी राम मंदिर का विरोध नहीं किया, पर भाजपा को केवल ये मुद्दा हिंदू-मुस्लिम का बनाने के लिए मस्जिद गिराना था।

दिग्विजय सिंह ने कहा- कांग्रेस ने कभी भी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का विरोध नहीं किया। केवल विवादित भूमि में निर्माण हेतु न्यायालय के फैसले का इंतजार करने के लिए कहा था। गैर विवादित भूमि पर भूमि पूजन भी राजीव जी के समय हो गया था। नरसिम्हा राव जी ने राम मंदिर निर्माण के लिए गैर विवादित भूमि का अधिग्रहण भी कर दिया था लेकिन भाजपा, विश्व हिंदू परिषद् (विहिप) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को मंदिर निर्माण नहीं मस्जिद गिराना था। क्योंकि जब तक मस्जिद नहीं गिरेगी तब तक मुद्दा हिंदू मुसलमान का नहीं बनता।

आगे दिग्विजय सिंह ने कहा, विध्वंस उनकी चाल व चरित्र में है अशांति फैला कर राजनीतिक लाभ लेना उनकी रण नीति है। इसीलिए उनका नारा था ‘‘राम लला हम आयेंगे, मंदिर वहीं बनायेंगे’’ अब वहाँ क्यों नहीं बनाया? जब उच्चतम न्यायालय ने विवादित भूमि न्यास को दे दी थी? इसका जवाब तो केवल विहिप के चंपत राय जी या नरेंद्र मोदी जी ही दे सकते हैं।

सिंह ने कहा कि उनकी सहानुभूति उन स्वयंसेवक परिवारों के साथ है जो मंदिर निर्माण आंदोलन में शहीद हुए और वो लोग जिनके ऊपर न्यायालय में आपराधिक मुक़दमे चले। उन्होंने सवाल किया कि क्या वे लोग आमंत्रित किए गए हैं। निर्मोही अखाड़े के लोग जिन्होनें 175 वर्षों तक राम जन्म भूमि की लड़ाई लड़ी, जिन्होनें अदालत में लड़ाई लड़ी, क्या उन्हें आमंत्रित किया? सिंह ने आरोप लगाया कि ऐसे लोगों का पूजा का अधिकार भी छीन कर चंपत राय के चयनित स्वयंसेवकों को दे दिया गया। क्या यही राज धर्म है और क्या यही राम राज है?

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co