Deendayal Upadhyaya Death Anniversary: सीएम ने दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर किया नमन

आज मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने श्रद्धेय पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर भोपाल में लालघाटी स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की एवं उन्हें नमन किया।
Deendayal Upadhyaya Death Anniversary 2024
Deendayal Upadhyaya Death Anniversary 2024Social Media
Submitted By:
Priyanka Yadav

हाइलाइट्स :

  • आज श्रद्धेय पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि

  • दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर सीएम ने किया नमन

  • CM बोले- आपका आदर्श जीवन भावी पीढ़ी को देश व समाज की सेवा के लिए सदैव प्रेरित करता रहेगा

Deendayal Upadhyaya Death Anniversary 2024: आज राष्ट्र उत्थान के लिए अपना संपूर्ण जीवन समर्पित कर देने वाले, एकात्म मानववाद व अंत्योदय के प्रणेता, श्रद्धेय पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर देश उन्हें याद कर नमन कर रहा है। इस मोके पर सीएम मोहन यादव ने उन्हें कोटिश: नमन और कहा- आपका आदर्श जीवन भावी पीढ़ी को देश व समाज की सेवा के लिए सदैव प्रेरित करता रहेगा।

दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर प्रतिमा पर पुष्पांजलि:

भाजपा के पितृपुरुष श्रद्धेय पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर आज लालघाटी, भोपाल स्थित उनकी प्रतिमा पर मुख्यमंत्री मोहन यादव, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं प्रदेश संगठन महामंत्री ने पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया। इस अवसर पर भाजपा पदाधिकारी उपस्थित रहे।

वही, शिवराज सिंह चौहान ने कहा- एकात्म मानववाद व अंत्योदय के प्रणेता, जनसंघ के संस्थापक आदरणीय पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की पुण्यतिथि पर भोपाल के लालघाटी स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर चरणों में नमन किया। श्रद्धेय पंडित जी का संपूर्ण जीवन भारत और भारतीयता के लिए समर्पित रहा। आप सदैव प्रेरणा बनकर हमारा पथ आलोकित करते रहेंगे।

एकात्म मानववाद नामक विचारधारा देने वाले पंडित दीनदयाल :

बता दें कि, भारतीय जनसंघ के सह-संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय की आज 11 फरवरी को पुण्यतिथि है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चिंतक (चिन्तक) और संगठनकर्ता थे। वे भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष भी रहे है। उन्होंने भारत की सनातन विचारधारा को युगानुकूल रूप में प्रस्तुत करते हुए देश को एकात्म मानववाद नामक विचारधारा दी। वे एक समावेशित विचारधारा के समर्थक थे जो एक मजबूत और सशक्त भारत चाहते थे। राजनीति के अतिरिक्त साहित्य में भी उनकी गहरी अभिरुचि थी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co