Gandhi Medical College Bhopal
Gandhi Medical College BhopalRE-Bhopal

चिकित्सकों को 7 वें वेतनमान का 1 जनवरी 2016 से मिलेगा लाभ, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की घोषणा

Gandhi Medical College Bhopal: चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि, गांधी मेडिकल कॉलेज में एक नवाचार शुरू किया जा रहा है यहाँ पहले मरीज का इलाज किया जायेगा फिर पर्चा बनाया जायेगा।

भोपाल, मध्यप्रदेश। सोमवार को गांधी मेडिकल कॉलेज भोपाल के 2000 बिस्तर अस्पताल का लोकार्पण मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों के लिए 7 वें वेतनमान के लाभ समेत कई महत्वपूर्ण घोषणा की। गांधी मेडिकल कॉलेज भोपाल में 700 करोड़ से अधिक की लागत से निर्मित इस अस्पताल में इमरजेंसी मेडिसिन विभाग का लोकार्पण भी किया गया। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि, गांधी मेडिकल कॉलेज में एक नवाचार शुरू किया जा रहा है यहाँ पहले मरीज का इलाज किया जायेगा फिर पर्चा बनाया जायेगा।

सीएम ने इस कार्यक्रम में चिकित्सकों के लिए महत्वपूर्ण घोषणा की :

  • चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र में कार्य करने वालों के लिए टीएसीपी व्यवस्था लागू की जाएगी।

  • 1 जनवरी 2016 से मेडिकल कॉलेज के चिकित्साकों को 7 वें वेतनमान का लाभ दिया जाएगा।

  • वेतन की एनपीए की गणना में हुई त्रुटि को सुधारा जायेगा।

  • संविदा चिकित्सकों को भी संविदा कर्मचारियों की तरह लाभ दिया जाएगा।

  • ग्रामीण क्षेत्र में डॉक्टर्स की आवशयकता है लेकिन अब क्योंकि डॉक्टर्स की संख्या में वृद्धि हो गई है इसलिए सीट लीविंग बांड पर युक्ति युक्त प्रबंध किया जाएगा।

  • 11 नर्सिंग होम की शिफ्टिंग के नियम सरल किए जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में कहा कि, मैं आपके बीच आकर बहुत प्रसन्न हूँ। अस्पताल में बना इमरजेंसी डिपार्टमेंट किसी कॉर्पोरेट अस्पताल से कम नहीं हैं। यहाँ उपस्थित सभी सीनियर और जूनियर डॉक्टर्स...मुझे खुशी है की यह भवन आज बनकर तैयार हो गया है। एक जमाना था जब मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य कहा जाता था, लेकिन अब मध्यप्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है। हमारी पर कैपिटा इनकम बढ़कर 1 लाख 40 हजार हो गई है। हमने जबरदस्त वृद्धि की है। हमने बिजली का उत्पादन बढ़ाया, सड़कें बनाई। मुझे कोविड संक्रमण काल के दौर में कोरोना हो गया था, उस दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं और एजुकेशन का ख्याल आया।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में आगे कहा कि, हमारे यहां कहा जाता है शरीर स्वस्थ्य रहे इससे बड़ा और कोई सुख नहीं हो सकता। हमारे समाज में डॉक्टर्स को भगवान समझा जाता है। भोपाल गैस त्रासदी में हमीदिया अस्पताल की बड़ी भूमिका थी। संक्रमण के दौर में भी सरकारी अस्पतालों की भूमिका अद्भुत थी।

स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने कहा कि, यह मेरे लिए सुखद अवसर है कि, जिस अस्पताल में मैंने ट्रैंनिंग ली वहां एक नया अस्पताल बनकर तैयार है। भोपाल के इस अस्पताल में इलाज के लिए आये आम नागरिकों को सभी अत्याधुनिक सुविधाओं का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री के प्रयासों से यह संभव हो सका है। एक अच्छा अस्पताल बनकर तैयार हुआ है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि, मध्यप्रदश में 31 मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार हो रहें हैं। इन मेडिकल कॉलेज से डॉक्टर तैयार होकर पूरे प्रदेश में अपनी सेवाएं देंगे। इस कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग, भोपाल महापौर मालती राय, विधायक रामेश्वर शर्मा, विधायक कृष्णा गौर और पूर्व महापौर आलोक शर्मा उपस्थित थे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co