बायो सीएनजी प्लांट को इसी सप्ताह मिल सकती है एनओसी
बायो सीएनजी प्लांट को इसी सप्ताह मिल सकती है एनओसीRaj Express

Gwalior : बायो सीएनजी प्लांट को इसी सप्ताह मिल सकती है एनओसी

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : प्रदूषण विभाग के अधिकारियों ने निरीक्षण कर देखी जमीन। लाल टिपारा गौशाला में लगाया जाना है बायो सीएनजी गैस प्लांट।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। लाल टिपारा स्थित नगर निगम की आदर्श गौशाला में बायो सीएनजी प्लांट लगाया जा रहा है। मंगलवार को प्रदूषण विभाग के अधिकारियों ने गौशाला पहुंचकर प्लांट के लिए आवंटित जमीन का निरीक्षण किया। प्रदूषण विभाग को एनओसी जारी करनी है इसके बाद प्लांट लगाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अधिकारियों के अनुसार प्रदूषण विभाग की एनओसी इसी सप्ताह मिल सकती है।

इंडियन ऑयल कार्पोरेशन द्वारा 31 करोड़ की लागत से लाल टिपारा गौशाला में बायो सीएजनी प्लांट लगाया जा रहा है। इसकी स्वीकृति मिल चुकी है। इस प्लांट से प्रतिदिन 100 टन गैस बनाई जा सकेगी। इस गैस से नगर निगम के वाहन संचालित होंगे। इससे पैसा भी बचेगा और प्रदूषण कम करने में भी मदद मिलेगी। इसके अलावा गीले कचरे का निष्तारण भी बायो सीएनजी प्लांट में हो जाएगा जिससे स्व'छता सर्वेक्षण में भी बेहतर नंबर मिलेगे। लेकिन इस प्लांट के लिए नगर निगम को जो दस्तावेज पूरे करने हैं वह अब तक नहीं हो पा रहे थे। दिल्ली से इंडियन ऑयल कार्पोरेशन के पदाधिकारी लगातार पत्राचार एवं फोन पर जानकारी ले रहे हैं। लेकिन नगर निगम द्वारा प्रदूषण विभाग, टाउन एण्ड कन्ट्री प्लानिंग, फायर विभाग की स्वीकृति लेनी थी जिसे लेकर लापरवाही बरती जा रही थी। मंगलवार को प्रदूषण विभाग के रीजनल अधिकारी एचएस मालवीय ने गौशाला नॉडल अधिकारी पवन सिंघल एवं पवन शर्मा के साथ गौशाला का निरीक्षण किया। संभवत इस सप्ताह प्रदूषण विभाग की एनओसी नगर निगम को मिल जायगी। इसके बाद टाउन एण्ड कन्ट्री प्लानिंग एवं फायर विभाग की एनओसी प्राप्त करके इंडियन ऑयल कार्पोरेशन को उपलब्ध करा दी जाएगी। इसके बाद बायो सीएनजी गैस प्लांट का काम शुरू हो जाएगा।

राज एक्सप्रेस ने उठाया था मुद्दा :

बायो सीएनजी गैस प्लांट लगाने में की जा रही लापरवाही को लेकर राज एक्सप्रेस द्वारा लगातार समाचार प्रकाशित किए जा रहे हैं। 12 दिसंबर को राज एक्सप्रेस के द्वारा फाईलों में अटका 31 करोड़ का बायो सीजएनजी प्लांट, मार्च 2022 में शुरू होना था काम नामक शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया गया। इसके बाद अधिकारी सक्रिय हुए और प्रदूषण विभाग को पत्र लिखा गया। साथ ही एक लाख रुपये की फीस भी जमा कराई गई। फीस जमा होने के बाद ही अधिकारी निरीक्षण के लिए पहुंचे हैं।

बायो सीएनजी प्लांट को इसी सप्ताह मिल सकती है एनओसी
Gwalior : फाईलों में अटका 31 करोड़ का बायो सीएनजी प्लांट, मार्च 2022 में शुरू होना था काम

इनका कहना है :

प्रदूषण विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार को गौशाला का निरीक्षण किया है। प्रदूषण विभाग की एनओसी मिलने के साथ ही अन्य एनओसी भी जल्द मिल जाएगी। हम जल्द से जल्द सभी प्रक्रिया पूर्ण करा रहे हैं।

पवन सिंघल, नोडल अधिकारी, गौशाला, नगर निगम

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co