Gwalior : मौसम बदला तो खांसी व बुखार कर रहा परेशान

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : बुखार तो फिर भी दो से तीन दिन में ठीक हो जाता है लेकिन खंसी 15 दिन तक परेशान कर रही है। जिसको लेकर लोग इसे कोरोना भी मान रहे हैं।
मौसम बदला तो खांसी व बुखार कर रहा परेशान
मौसम बदला तो खांसी व बुखार कर रहा परेशानसांकेतिक चित्र

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। मौसम में बदलाव हो रहा है जो परेशानी का कारण बन रहा है। क्योंकि बच्चे से लेकर बड़े तक बुखार व खांसी से परेशान है। बुखार तो फिर भी दो से तीन दिन में ठीक हो जाता है लेकिन खंसी 15 दिन तक परेशान कर रही है। जिसको लेकर लोग इसे कोरोना भी मान रहे हैं। हालांकि कोरोना की जांच कराने से लोग कतरा रहे हैं। लेकिन यह माना जा रहा है कि कोरोना नहीं पर उससे यह कम भी नहीं है इसलिए सावधानी रखना जरुरी है। डाक्टरों का कहना है कि यह वायरल बीमारियां है जो इस मौसम में आ जाती है। उसका कारण है कि दिन में तेज धूप व रात में ठंडक से परेशानी बढ़ जाती है। यही कारण है कि बच्चे बड़े सब बीमार हो रहे हैं।

हालात यह है कि अस्पताल में सर्दी, खांसी, दस्त, बुखार की शिकायत लेकर मरीज पहुंच रहे हैं। मौसम में बदलाव के कारण अस्थमा रोगियों को सांस लेने में परेशानी हो रही है। मेडिसिन के डा आशीष तिवारी का कहना है कि इस समय कई लोगों को एलर्जी की शिकायत होती है जिसके कारण उन्हें सांस लेने में परेशानी होती है। सर्दी, जुकाम के कारण भी मरीज में सांस संबंधी परेशानी बढ़ जाती है। जब लोग इस पर ध्यान नहीं देते तो बीमारी बिगड़ जाती और उन्हें भर्ती करने की आवश्यकता हो जाती है। दिन गर्म और रात ठंडी होने से लोग बीमार हो रहे हैं। बीमार होकर लोग अस्पताल में डाक्टर से परामर्श लेने तक पहुंच रहे हैं। हालात यह है कि अचानक मौसम में हुए परिवर्तन के कारण मरीजो को सांस संबंधी बीमारी बढ़ी है। इस कारण से उन्हें भर्ती होना पड़ रहा है।

40 फीसदी मरीज सांस संबंधी :

जेएएच के मेडिसिन वार्ड में तकरीबन 40 फीसद मरीज सांस संबंधी बीमारियों के चलते भर्ती हुए हैं। जबकि मेडिसिन की ओपीडी में 60 फीसद मरीज सर्दी, जुकाम, खांसी व बुखार के पहुंच रहे हैं। डाक्टरों का कहना है इन बीमारियों से बचने के लिए ठंड से बचाव रखें और स्वस्थ्य रहें। जेएएच के पीडियाट्रिक विभाग में इन दिनों बीमार बच्चों की संख्या में इजाफा हुआ है। हालात यह हैं कि ओपीडी में 60 फीसद बीमार बच्चों को मौसम में परिवर्तन के कारण सर्दी, जुकाम, बुखार की शिकायत के साथ सांस लेने में परेशानी और दस्त की शिकायत है। कई बच्चों को भर्ती कर उपचार देना पड़ता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co