Indore Bazar
Indore Bazar Social Media

Indore News : मंजूर नहीं नया व्यापारिक टैक्स, कांग्रेस का पुरजोर विरोध

इंदौर, प्रदेश की औद्योगिक और व्यापारिक राजधानी है। शहर की जनता ने बिना सरकारी प्रोत्साहन के अपने दम पर इंदौर को व्यापारिक केंद्र बनाया है।

इंदौर। अब नगर निगम हर व्यवसाय करने वाले से वर्गफीट के आधार पर 50 हजार रुपये तक टैक्स वसूलेगा। जल कर, संपत्तिकर, विज्ञापन, नवीन वाहन कर ,सफाई कर,कचरा कलेक्शन टैक्स के बाद अब एक और नया जबरिया टैक्स लेने की तैयारी है। जो भी व्यापार इंदौर में होगा उसमें नगर निगम जगह की साइज और सड़क चौड़ाई के हिसाब से जबरन वसूली नए टैक्स के रूप में करेगा। रविवार को कांग्रेस नेता दीपक जोशी पिंटू ने उक्त जानकारी देते हुए कहा इंदौर प्रदेश की औद्योगिक और व्यापारिक राजधानी है। शहर की जनता ने शुरू से ही बिना सरकारी प्रोत्साहन के अपने आप  के दम पर इंदौर को व्यापारिक केंद्र बनाया है। 

चरम पर है अवैध वसूली और गुंडागर्दी

जोशी ने कहा सरकार से पहले यहां के व्यापारिक संगठनों ने इंदौर में स्कूल, कॉलेज,अस्पताल,धर्मशाला,सभागृह , गरीबों को सुविधाएं, जरूरतमंदो की मदद आदि जैसे पुण्य कार्य किए। जब जब शहर को जरूरत पड़ी यहां के औद्योगिक और व्यापारिक प्रतिष्ठानों ने बढ़  चढ़ कर अपना सहयोग दिया। आज अगर इंदौर का नाम देश मे रोशन है तो इसमें इस वर्ग की महती भूमिका है। व्यापार उद्योग से शहरभर की जनता सीधे रूप से जुड़ी है और रोजगार प्राप्त कर रही है, लेकिन देखने में आ रहा है इसी वर्ग को  भाजपा सरकार और नगर निगम परेशान और प्रताडि़त कर रही है। यहां सरकार और नगर निगम उद्योग व्यापार बढ़ाने में तो कोई मदद नहीं कर रही है बल्कि यहां के धंधे, व्यवसाय चौपट करने में लगी है। जब सरकार कुछ दे नहीं सकती तो उसे छीनने का अधिकार भी नहीं है। शहर के विभिन्न व्यापारिक और औद्योगिक क्षेत्र आज भी समस्याओं से जूझ रहे है और उनकी कोई सुनवाई  सरकार नहीं करती है। नगर निगम की अवैध वसूली और गुंडागर्दी चरम पर है।

जले पर नमक छिड़कने का कर रहे काम

जोशी ने कहा इन सब अव्यवस्था के उपर व्यापारियों के जले पर नमक छिड़कने का काम भाजपा शासित नगर निगम इस नए कर के साथ कर रही है। हम कांग्रेस पार्टी की तरफ  से इस नए अन्याय पूर्ण कर के खिलाफ है। यह नया कर शहर में व्यापार को समाप्त कर देगा और पहले से संघर्षरत व्यापारियों की कमर तोड़ देगा। हम यह नए टैक्स को शहर में लागू नहीं होने देंगे। इसके लिए सडक पर उतरकर जनता की लड़ाई हम लड़ेंगे। जरूरत पडऩे पर हर स्तर पर जाने को तैयार है। हमें सिर्फ व्यापारियों के साथ और प्रोत्साहन की जरूरत है। यदि व्यापारी अब भी सरकार से डर कर चुप रहेगा तो आने वाले समय मे सरकार उन पर और जबरिया रवैया अपनाएगी। 

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co