एक रुपए किलो में भी नहीं खरीद रहे प्याज
एक रुपए किलो में भी नहीं खरीद रहे प्याजRE-Indore

Indore News: एक रुपए किलो में भी नहीं खरीद रहे प्याज, उद्यानिकी विभाग ने सरकार को फसल खराबी की रिपोर्ट भेजी

Onion Crop : संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों ने बताया कि जिन किसानों ने प्याज की बोवनी की थी उनका प्याज खेतों में ही सड़ गया है ।

Onion is One Rupee Per Kg: इंदौर। मंडी में किसान प्याज बेचने आ रहे है तो उन्हें भाड़ा तक निकाल पाना मुश्किल हो रहा है। मंडी में किसानों को एक रुपए किलो का भाव भी नहीं मिल पा रहा है। इस वजह से किसान मायूस नजर आ रहे है। पिछले दिनों जिले में हुई बारिश और ओलावृष्टि से प्याज की फसल को भारी नुकसान हुआ है। किसानों को गेहूं के बाद अब प्याज भी रुला रहा है। बारिश से खेतों में ही प्याज सडऩे लगा था जिसे किसानों ने निकाला।

बेमौसम बारिश से किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने गत दिनों मध्य प्रदेश सरकार से मांग की थी कि वह तत्काल फसलों का सर्वे कराकर किसानों को आरबीसी 6 /4 के तहत मुआवजे का वितरण करें। सरकार ने अभी तक इन किसानों को कोई राहत नहीं दी है ।

13 हजार में से 993 हेक्टेयर फसल हुई खराब

संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों ने बताया कि जिन किसानों ने प्याज की बोवनी की थी उनका प्याज खेतों में ही सड़ गया है । पहले अतिवृष्टि से गेहूं का भाव नहीं मिला और अब प्याज कोडिय़ों के मोल बिक रहा है । पानी लगने से अब प्याज संग्रहण लायक भी नहीं बचा है। पूरे जिले में करीब 13000 हेक्टेयर से ज्यादा में प्याज की फसल बोई गई थी जिसमें से अधिकांश फसल खराब हो गई है। उद्यानिकी विभाग के उप संचालक भी मान रहे हैं कि जिले में 993 हेक्टेयर फसल खराब हुई है, जिसकी रिपोर्ट सरकार को भेजी गई है।

जानवरों को खिला रहे या सड़क पर फेंकने को मजबूर

बारदाखेडी के महेंद्र कैलाश पटेल ,पंथ बडोदिया के सतीश बडवाया, अटाहेडा के यशवंत सुनेरसिंह बीसी कई कांकवा गांव के बहादूर शिवनारायण, व मनोहर सीताराम राठौर ने बताया कि उनके द्वारा प्याज की फसल लगाई थी जो खेत में ही सड़ गई हैं। पहले किसान भाव नहीं मिलने पर प्याज को संग्रहित कर लेता था लेकिन फसल खराब होने से अब प्याज संग्रहण लायक भी नहीं बचा है। इस कारण मंडी में बेचने ले जाने के बजाए प्याज को उखाड़ कर जानवरों को खिलाया जा रहा है या फेंका जा रहा है।

फसल नुकसान मुआवजे की मांग

किसान सतीश ने बताया कि उसने दो बीघा में प्याज बोई थी अधिकांश प्यास खराब हो गई है और उसे संग्रहित भी नहीं किया जा सकता है इसलिए प्याज को फेंकना पड़ रहा है, जिससे भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है कि किसानों को तत्काल फसल नुकसान का मुआवजा दिया जाए। साथ ही तत्काल धारा आरबीसी 6-4 के तहत किसानों के खातों में राशि डाली जाए।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co