पेशवा बाजीराव प्रथम और ए. बी. तारापोरे की जयंती
पेशवा बाजीराव प्रथम और ए. बी. तारापोरे की जयंती Priyanka Yadav-RE

जयंती विशेष: पेशवा बाजीराव प्रथम और ए. बी. तारापोरे की जयंती पर मुख्यमंत्री का नमन संदेश

जयंती विशेष: आज पेशवा बाजीराव प्रथम और ए. बी. तारापोरे की जयंती पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है, इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी ट्वीट कर उन्हें शत-शत नमन किया है।

हाइलाइट्स:

  • आज पेशवा बाजीराव प्रथम और ए. बी. तारापोरे की जयंती है

  • पेशवा और तारापोरे की जयंती पर आज देश उन्हें याद कर रहा

  • मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी ट्वीट कर उन्हें शत-शत नमन किया

जयंती विशेष: आज पेशवा बाजीराव प्रथम और ए. बी. तारापोरे की जयंती पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है, इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने भी ट्वीट कर उन्हें शत-शत नमन किया है।

पेशवा बाजीराव प्रथम की जयंती पर सीएम ने किया नमन :

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा- मराठा साम्राज्य के गौरव, अजेय और अप्रतिम योद्धा वीर पेशवा बाजीराव प्रथम की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन आपके अद्वितीय शौर्य, साहस और पराक्रम की गौरव गाथा अनंत काल तक युवाओं को राष्ट्र सेवा के लिए प्रेरित करती रहेगी।

प्रथम महान सेनानायक थे पेशवा बाजीराव

पेशवा बाजीराव प्रथम महान सेनानायक थे। वे 1720 से 1740 तक मराठा साम्राज्य के चौथे छत्रपति शाहूजी महाराज के पेशवा (प्रधान मंत्री) रहे। पेशवा बाजीराव प्रथम का जन्म चितपावन कुल के ब्राह्मण परिवार में हुआ। इनको 'बाजीराव बल्लाळ' तथा 'थोरले बाजीराव' के नाम से भी जाना जाता है। इन्हें लोग अपराजित हिन्दू सेनानी सम्राट भी कहते थे।

ए. बी. तारापोरे की जयंती पर उन्हें नमन: CM

ए. बी. तारापोरे की जयंती पर मुख्यमंत्री ने कहा कि, वर्ष 1965 के भारत-पाक युद्ध में अपने शौर्य व पराक्रम से शत्रु सेना को धूल चटाने वाले परमवीर चक्र विजेता लेफ्टिनेंट कर्नल ए. बी. तारापोरे की जयंती पर उन्हें कोटिश: नमन। मां भारती की रक्षार्थ आपका बलिदान सदैव देशवासियों में देशप्रेम का संचार करता रहेगा।

परमवीर चक्र से सम्मानित भारतीय सैनिक थे लेफ्टिनेंट कर्नल ए. बी. तारापोरे

ए. बी. तारापोरे का जन्म 18 अगस्त, 1923 को महाराष्ट्र में हुआ था। लेफ्टिनेंट कर्नल ए. बी. तारापोरे परमवीर चक्र से सम्मानित भारतीय सैनिक थे। उन्हें यह सम्मान सन 1965 में मरणोपरांत मिला। उनका पूरा नाम 'अर्देशिर बर्जारी तारापोरे' है और उनके साथी उन्हें 'आदी' कहकर पुकारते थे। ए. बी. तारापोरे के पुरखों का सम्बन्ध छत्रपति शिवाजी महाराज की सेना से था।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co