ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल पर कमलनाथ का बयान
ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल पर कमलनाथ का बयानRE

ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल पर कमलनाथ का बयान- लोकतंत्र में एक तरफा फैसलों के लिए कोई गुंजाइश नहीं है

मध्यप्रदेश में ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के चलते पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है। इसी बीच इस मामले पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का बयान सामने आया है।

हाइलाइट्स-

  • ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल को लेकर कमलनाथ ने जारी किए बयान।

  • कमलनाथ ने कहा- लोकतंत्र में एक तरफा फैसलों के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।

  • कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी जारी किया बड़ा बयान।

भोपाल, मध्य प्रदेश। भारत सरकार के फैसले के बाद हिट एंड रन कानून में किए गए, संशोधन को लेकर देशभर में चक्का जाम कर विरोध चल रहा है। मध्यप्रदेश में ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के चलते पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है। मध्य प्रदेश में भी ड्राइवरों की हड़ताल का असर अब बढ़ने लगा है। वहीं, इस हड़ताल के चलते मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने सरकार को हड़ताल खत्म कराने के निर्देश दिए हैं। इसी बीच इस मामले पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने बड़ा बयान जारी किया है।

कमलनाथ ने कही यह बात:

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बयान देते हुए कहा कि, "लोकतंत्र में एकतरफा फैसलों के लिए कोई गुंजाइश नहीं है। संसद में संवाद के बिना ट्रक ड्राइवर्स के खिलाफ कठोर कानून बनाना समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग पर हमला है। कानूनों के विरोध में हो रही हड़ताल से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। सरकार को ड्राइवर्स से बात कर समस्या का सर्वसम्मत हाल निकालना चाहिए।"

जीतू पटवारी ने कही यह बात:

वहीं, मध्य प्रदेश के कांग्रेस के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने ड्राइवरों की हड़ताल पर बीजेपी को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि, "बीजेपी का चरित्र ही तानाशाही और संवादहीनता का है। इसके पहले केन्द्र सरकार ने किसानों से चर्चा किये बिना तीन काले क़ानून लाने का दुस्साहस किया और किसान संगठनों को सड़क पर उतरना पड़ा।"

जानकारी के लिए बता दें कि, केन्द्र सरकार का हिट एंड रन क़ानून भी किसानों के काले कानून की तर्ज़ पर ही बनाया गया है, जिसमें सभी ड्राइवरों पर तानाशाही पूर्वक कार्यवाही का जिक्र है। संसद में जब यह काला क़ानून लाया गया, तब सांसदों को अलग-अलग निराधार कारणों से निलंबित कर चोरी-चुपके यह काला कानून पास कर लिया गया। वहीं, ड्राइवर्स की हड़ताल के चलते भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर सहित अन्य जिलों में दूध से लेकर सब्जी और किराना सप्लाई कम हुई है। ज्यादातर शहरों में सब्जियां महंगी हो गईं। स्कूल-कॉलेज बसें बंद रहीं। खरगोन में पुलिस और प्रर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co