Kartar Singh Sarabha Birth Anniversary
Kartar Singh Sarabha Birth AnniversaryPriyanka Yadav-RE

देश की आजादी के लिए दिया गया करतार सिंह का बलिदान सदैव युवाओं में देशप्रेम का संचार करता रहेगा: CM

Kartar Singh Sarabha Birth Anniversary: महान क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा की आज 127वीं जयंती है, मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा- महान क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन।

Kartar Singh Sarabha Birth Anniversary: महान क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा की आज 127वीं जयंती है, भारत की आजादी के लिए अल्प आयु में ही हँसते- हँसते फांसी के फंदे को गले लगाने वाले अमर क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा की जयंती पर देश उन्हें याद कर नमन कर रहा है।

करतार सिंह सराभा की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन: CM

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा- मां भारती की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले महान क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा की जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन, देश की आजादी के लिए दिया गया आपका बलिदान सदैव युवाओं में देशप्रेम का संचार करता रहेगा।

माँ भारती की परतंत्रता की बेड़ियों को तोड़ने के लिए 19 वर्ष की अल्पायु में ही हँसते-हँसते प्राणोत्सर्ग कर देने वाले शहीद करतार सिंह सराभा के साहस, त्याग एवं बलिदान की गाथा युगों-युगों तक हर भारतवासी को प्रेरित करती रहेगी।

करतार सिंह की जयंती पर मंत्री सारंग और वीडी शर्मा ने भी किया ट्वीट:

प्रदेश के चिकित्‍सा शिक्षा मंत्री ने ट्वीट कर लिखा- देश की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों का बलिदान करने वाले महान क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा जी की जयंती पर उन्हें कोटिश: नमन, आपके देश प्रेम एवं बलिदान की गाथाएं हम समस्त भारतवासियों को सदैव प्रेरित करती रहेंगी।

वही वीडी शर्मा ने ट्वीट कर लिखा- देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले महान क्रांतिकारी करतार सिंह सराभा जी की जयंती पर उन्हें सादर नमन। देश को आज़ाद कराने के संकल्प के साथ करतार सिंह जी ने 19 वर्ष की आयु में अपने प्राणों का बलिदान दिया। स्वाधीनता आंदोलन में उनका योगदान सदैव याद किया जाएगा।

बता दें, करतार सिंह सराभा भारत को अंग्रेजों की दासता से मुक्त करने के लिये अमेरिका में बनी गदर पार्टी के अध्यक्ष थे। भारत में एक बड़ी क्रान्ति की योजना के सिलसिले में उन्हें अंग्रेजी सरकार ने कई अन्य लोगों के साथ फांसी दे दी। 16 नवम्बर 1915 को करतार सिंह सराभा को जब फांसी पर चढ़ाया गया, तब वे मात्र साढ़े उन्नीस वर्ष के थे। प्रसिद्ध क्रांतिकारी भगत सिंह उन्हें अपना आदर्श मानते थे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co