Umang Singhar Statement
Umang Singhar StatementSocial Media

नई सरकार ने घटाई 2 लाख लाड़ली बहना, विज्ञापन इसका प्रमाण है, जनता खुद देखे: उमंग सिंघार

Umang Singhar Statement: नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने बयान देते हुए कहा कि, भाजपा ने प्रदेश की लाखों लाडली बहनों से झूठ बोल कर वोट ले लिए और अब उन्ही में से 2 लाख बहनों की छंटनी कर दी।

हाइलाइट्स :

  • नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार का सामने आया बड़ा बयान

  • लाड़ली बहना योजना को लेकर सिंघार ने सरकार पर सवाल उठाए

  • उमंग सिंघार ने कहा- MP की नई सरकार ने दो लाख लाड़ली बहनों के नाम काट दिए

Umang Singhar Statement: हाल ही में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार का बड़ा बयान सामने आया है। उमंग सिंघार ने लाड़ली बहना योजना को लेकर नई सरकार पर सवाल उठाए और कहा कि प्रदेश की नई सरकार ने दो लाख लाड़ली बहनों के नाम काट दिए।

झूठे विज्ञापनों की सच्चाई:

उमंग सिंघार ने ट्वीट कर लिखा- नई सरकार ने घटाई 2 लाख लाड़ली बहना! झूठे विज्ञापनों की सच्चाई। कर्ज का बोझ नहीं ढो पा रही विज्ञापन से बनी भाजपा सरकार, प्रदेश की लाखों लाडली बहनों से झूठ बोल कर वोट ले लिए और अब उन्ही में से 2 लाख बहनों की छंटनी कर दी।

Umang Singhar Statement
Umang Singhar StatementSocial Media

जब सितंबर में शिवराज CM थे, तब लाड़ली बहनों की संख्या 1.31 करोड़ थी: सिंघार

उमंग सिंघार बोले- जब सितंबर में शिवराज CM थे, तब लाड़ली बहनों की संख्या 1.31 करोड़ थी, अब नए CM मोहन यादव जी ने इस संख्या को छाँटकर 1.29 करोड़ कर दिया है यानी 2 लाख तो नई सरकार बनते ही घटा दी। सरकारी विज्ञापन इसका प्रमाण है, जनता खुद देखे...लोकसभा चुनाव के बाद ये संख्या कितनी बचेगी, ये तो नए CM मोहन यादव ही तय करंगे। नए CM क्यों चाहेंगे कि लाड़ली बहना के 'प्यारे भैया' शिवराज जी ही बने रहें और मोहन यादव जी आपकी योजना को कर्ज लेकर ढोते रहें!

विज्ञापन
विज्ञापन Social Media

सरकार भले BJP की है, पर CM का चेहरा तो नया है!

आगे उमंग सिंघार ने कहा कि, 'लाड़ली बहना योजना' को लेकर लोगों की शंका गलत नहीं है कि CM बदलते ही इस योजना पर तलवार लटकी है। सरकार भले BJP की है, पर CM का चेहरा तो नया है! अब लाड़ली बहनों को भी समझ आ रहा है कि ये BJP का चुनावी पाखंड था, जिसका रंग उतरने लगा है!

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co