प्रवासी सम्मेलन और इन्‍वेस्टर्स समिट इंदौर में
प्रवासी सम्मेलन और इन्‍वेस्टर्स समिट इंदौर मेंSyed Dabeer Hussain - RE

इंदौर में होने जा रहे प्रवासी सम्मेलन और इन्‍वेस्टर्स समिट से मध्यप्रदेश को मिल सकते हैं ये फायदे

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में 68 देशों के 2800 प्रवासी भारतीय शामिल होंगे। ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट में 200 से अधिक उद्योगपति शामिल होंगे।

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के इंदौर में जल्द ही प्रवासी भारतीय सम्मेलन और ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट होने जा रही है। 8 जनवरी से 10 जनवरी तक प्रवासी भारतीय सम्मेलन चलेगा जबकि 11 और 12 जनवरी को ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट का आयोजन होगा। प्रवासी भारतीय सम्मेलन में 68 देशों के 2800 प्रवासी भारतीय शामिल होंगे। ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट में 200 से अधिक उद्योगपति शामिल होंगे। इनके अलावा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस दौरान इंदौर पहुंचेंगे। इन दोनों आयोजनों के लिए इंदौर में तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। ऐसे में आज हम जानेंगे कि 5 दिनों में होने वाले इन 2 बड़े आयोजन से इंदौर और प्रदेश की जनता को क्या फायदा होगा।

मध्यप्रदेश की ब्रांडिंग :

प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान इन दो आयोजन के जरिए इंदौर और मध्यप्रदेश की ब्रांडिंग पूरी दुनिया में करना चाहते हैं। प्रवासी भारतीय सम्मेलन में सूरीनाम के राष्ट्रपति चंद्रिका प्रसाद संतोखी और गुयाना के राष्ट्रपति मोहम्मद इरफान अली सहित कई देशों के मंत्री भी पहुंचेंगे। प्रवासी भारतीय सम्मेलन में आने वाले मेहमानों को इंदौर शहर सहित मध्यप्रदेश की ऐतिहासिक धरोहरों से रूबरू कराया जाएगा। इसके अलावा G20 का एक कार्यक्रम भी इंदौर में कराने की तैयारियां की जा रही हैं।

शहर का विकास :

इंदौर के कई लोग ऐसे हैं, जो इस समय दुनिया के अलग-अलग देशों में रहते हैं। विदेश में रहने के बावजूद उनका इंदौर से जुड़ाव और लगाव रहता है। ऐसे में अब इंदौर के प्रवासी भी शहर के विकास में योगदान दे सकें, इसके लिए नॉन रेसीडेंसियल इंदौरी फोरम अपनी अहम भूमिका निभाएगा। इसके जरिए इंदौर के प्रवासी शहर के स्कूल, कॉलेज, अस्पताल जैसे संस्थानों को गोद लेकर वहां की व्यवस्था का सुधार सकते हैं।

पर्यटन की संभावना :

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में आने वाले मेहमानों को मध्यप्रदेश के पर्यटन स्थलों की जानकारी भी दी जाएगी। उन्हें प्रदेश के वन्यजीव पर्यटन, हेरिटेज पर्यटन और आध्यात्मिक पर्यटन से जोड़ा जाएगा। ऐसा करने से प्रदेश में पर्यटकों की संख्या में इजाफा हो सकता है।

निवेश :

ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट में देश के सभी बड़े उद्योगपति शामिल होंगे। इस उद्योगपतियों से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वन-टू-वन चर्चा करेंगे। ऐसे में इसके जरिए प्रदेश में बड़ी संख्या में निवेश आने की उम्मीद है।

रोजगार के अवसर :

इतनी बड़ी संख्या में एक साथ प्रवासी भारतीयों के यहाँ आने से शहर के लोगों को रोजगार भी मिलेगा। इन आयोजनों में शामिल होने वाले मेहमानों के चलते शहर के लगभग सभी होटल फूल हो चुके हैं। इसके अलावा मेहमानों को हर जिले के एक उत्पाद, बांस के समान से लेकर माहेश्वरी और चंदेरी साड़ी जैसे सामान से भी अवगत कराया जाएगा। दूसरी तरफ इन्‍वेस्टर्स समिट से आए निवेश से भी प्रदेश के लोगों को रोजगार मिलेगा।

मेडिकल टूरिज्म :

प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दौरान इंदौर में मेडिकल टूरिज्म की संभावनाओं को भी खंगाला जाएगा। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों के साथ मीटिंग भी होनी है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co