6 लाख बच्चों का कौशल विकास टेस्ट कराएगा स्कूल शिक्षा विभाग
6 लाख बच्चों का कौशल विकास टेस्ट कराएगा स्कूल शिक्षा विभागसांकेतिक चित्र

Madhya Pradesh : 6 लाख बच्चों का कौशल विकास टेस्ट कराएगा स्कूल शिक्षा विभाग

भोपाल, मध्यप्रदेश : लखनऊ की आईसीएस संस्था से करार, 9 हजार स्कूलों के शिक्षक प्रशिक्षित। नूतन वर्ष में हर में विद्यालय लगाये जाएंगे बच्चों के कैरियर कांउसिलंग मेले।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में दर्ज 6 लाख बच्चों का एप्टीट्यूड यानि कौशल विकास टेस्ट होगा। इसके लिए शिक्षा विभाग का लखनऊ की एक संस्था से करार हुआ है। यह संस्था बच्चों की नि:शुल्क रूप में कैरियर काउंसलिंग करेगी। इसके लिए विभाग पूरी तैयारियां कर रहा है।

विभाग का कहना है कि बच्चों का कौशल विकसित करने के लिए लखनऊ की आईसीएस संस्था से करार हुआ है। यह संस्था नि:शुल्क रूप से बच्चों की कैरियर काउंसलिंग करेगी। इसके लिए प्रदेश के 9 हजार हायर सैकेण्डरी और हाईस्कूलों के शिक्षकों को प्रशिक्षित किया गया है। हर स्कूल से एक-एक शिक्षक ने ट्रेनिंग ली है। इन्हीं शिक्षकों के सहयोग से बच्चें का कौशल विकास परीक्षण किया जाएगा। यह देखा जाएगा कि विद्यार्थी की किस विद्या में रूचि है और वह किस कला में आगे जाना चाहता है। इसके लिए 14 जनवरी को हर चयनित विद्यालय में कैरयिर काउंसलिंग मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

स्वयं सिद्धि में होगा वीकली टेस्ट :

विभाग का कहना है कि बच्चों का किताबों में बौद्धिक बल परखने के लिए स्वयं सिद्धि प्रोग्राम प्रारंभ किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत कैरीकुलम के आधार पर बच्चों का वीकली टेस्ट होगा। इसमें यह देखा जाएगा कि बच्चे कहां असफल हो रहे हैं। बच्चों की इन कमजोरियों को पकड़कर उन्हें तैयार किया जाएगा। इससे संबंधित पाठ्य सामग्री के वीडियो तैयार किये जाएंगे। इन वीडियो से बच्चे खुद ही सेल्फ स्टडी कर सकते हैं। अधिकारियों का कहना है कि यह काम जल्द ही स्कूलों में प्रारंभ किया जाएगा। इसके लिए कन्वीनियस संस्था से विभाग ने करार किया है।

सात हजार टीचरों द्वारा ली गई ट्रेनिंग :

विभाग का कहना है कि स्वयं सिद्धि प्रोग्राम में बच्चों की दक्षताओं को परखने के लिए सात हजार टीचरों ने ऑनलाइन ट्रेनिंग ली है। इस ट्रेनिंग में शिक्षकों को बताया गया है कि उन्हें किस प्रकार विद्यार्थियों की कमजोरियां पकड़ना है। फिर तैयार पाठ्य सामग्री के वीडियो के माध्यम से कैसे बच्चों की तैयारियां करवाना है। वीडियो में विषयवार सारगर्भित सामग्री रखी जाएगी। ताकि बच्चे सरल अवधारणाओं में अपनी विषयों की तैयारियां आसानी से कर सकें।

इनका कहना :

प्रदेश में 6 लाख बच्चों का एप्टीट्यूड टेस्ट कराया जा रहा है। इसके लिए 9 हजार स्कूलों के शिक्षकों को प्रशिक्षित किया गया है, जो बच्चों की कैरियर काउंसलिंग करेंगे। एक अन्य स्वयं सिद्धि प्रोग्राम में बच्चों का हर सप्ताह टेस्ट होगा। इस प्रोग्राम में भी सात हजार शिक्षकों को ऑनलाइन ट्रेनिंग दी गई है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co