लोक निर्माण विभाग
लोक निर्माण विभागRE-Bhopal

MP News: लोक निर्माण विभाग में कंसलटेंट की 'सार्थक' ऐप से होगी मॉनिटरिंग

Public Works Department Sarthak App: प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि सार्थक एप के माध्यम से उपस्थिति रिपोर्ट प्राप्त न होने पर कंसलटेंट के विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी।

हाइलाइट्स :

  • निर्माण स्थल पर कंसलटेंट पाये जाते हैं अनुपस्थित।

  • रहती है निर्माण कार्य की गुणवत्ता प्रभावित होने की संभावना।

  • रिपोर्ट प्राप्त न होने पर कार्रवाई।

भोपाल, मध्यप्रदेश। निर्माण कार्यों की गुणवत्ता नियंत्रण के लिये जिम्मेदार कंसलटेंट की निगरानी अब लोक निर्माण विभाग 'सार्थक' ऐप से करेगा। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा तैयार किये गये इस ऐप को निर्माण कार्यों के पर्यवेक्षण के लिये नियुक्त सभी अभियंताओं को करना होगा। साथ ही संबंधित कंसलटेंट भी सार्थक ऐप से जुड़ेंगे।

कंसलटेंट निगरानी के लिये सार्थक ऐप:

प्रमुख सचिव लोक निर्माण सुखवीर सिंह ने लोक निर्माण विभाग की सभी निर्माण एजेंसियों के प्रमुखों को निर्देश दिये हैं कि निर्माण स्थल पर सुपरविजन एवं क्वालिटी कंट्रोल के लिये अनुबंधित कंसलटेंट की निगरानी किया जाना आवश्यक है, क्योंकि अनेक बार निरीक्षण के दौरान निर्माण स्थल पर कंसलटेंट अनुपस्थित पाये जाते हैं, जिससे निर्माण कार्य की गुणवत्ता प्रभावित होने की संभावना बनी रहती है। कंसलटेंट पर निगरानी के लिये सार्थक एप का उपयोग किया जाये।

विभाग की सभी निर्माण एजेंसी, प्रमुख अभियंता लोक निर्माण, प्रमुख अभियंता भवन, प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम, प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश भवन विकास निगम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग से सम्पर्क कर एप की विस्तृत जानकारी और कार्य-प्रणाली प्राप्त कर एप अपने मोबाइल पर डाउनलोड करेंगे। साथ ही संबंधित कंसलटेंट को भी ऐप डाउनलोड करने के निर्देश दिये जायेंगे। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि सार्थक एप के माध्यम से उपस्थिति रिपोर्ट प्राप्त न होने पर कंसलटेंट के विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co