मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहानRE-Bhopal

Shivraj Singh : शिवराज सिंह चौहान ने हाई कोर्ट को लिखा पत्र - छात्रों पर से प्रकरण वापस लेने का निवेदन किया

Shivraj Singh Chauhan Wrote Letter To High Court : पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पत्र के माध्यम से अपील की है कि छात्रों को क्षमा करें तथा प्रकरण वापिस लेने का निवेदन किया है।

हाइलाइट्स :

  • पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने हाई कोर्ट से किया निवेदन।

  • रेलवे स्टेशन के बाहर छात्रों ने न्यायाधीश की कार की छीनी थी चाबी।

  • छात्रों पर से प्रकरण वापस लेने की अपील की है।

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उच्च न्यायालय को पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र के माध्यम से अपील की है कि छात्रों को क्षमा करें तथा प्रकरण वापिस लेने का निवेदन किया है। आगे उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि माननीय उच्च न्यायालय छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखकर, मानवीय मूल्यों के आधार पर छात्रों को क्षमा प्रदान करेंगे।

उन्होंने पत्र में लिखा हैं कि मुझे समाचार पत्रों के माध्यम से एक प्रकरण मेरे संज्ञान में आया है जिस पर मैं आपका ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूँ। निजी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रणजीत सिंह जी का दिल्ली से झांसी जाते समय ट्रेन में अचानक स्वास्थ्य खराब हो गया और उनके साथ यात्रा कर रहे कुछ छात्रों ने उन्हे इलाज हेतु ग्वालियर स्टेशन पर उतारा और रेलवे स्टेशन के बाहर छात्रों ने न्यायाधीश की कार का उपयोग चाबी छीन कर किया, जिससे कुलपति को अस्पताल पहुंचाकर उन्हें शीघ्र चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकें। हालांकि बाद में अस्पताल में कुलपति जी को नहीं बचाया जा सका और इस पूरे मामले में पुलिस द्वारा चोरी एवं डकैती की धाराओं के अंतर्गत दो छात्रों पर प्रकरण दर्ज कर लिए गए।

आगे उन्होंने लिखा है कि महोदय, चूंकि यह एक अलग तरह का मामला है जिसमें पवित्र उद्देश्य के साथ अपराध किया गया है। इस मामले में दोनों छात्र हिमांशु और सुकृत ने मानवीय आधार पर सहयोग एवं जान बचाने के अभिप्राय से यह अपराध किया है। छात्रों का भाव किसी तरह का द्वेष या अपराधिक कार्य करने का नहीं था। चूंकि यह एक अपराध है, लेकिन क्षमायोग्य कृत्य भी है। अतः मेरा निवेदन है कि, माननीय उच्च न्यायालय स्वतः संज्ञान लेकर दोनों छात्रों के भविष्य को देखते हुए दर्ज प्रकरण को वापस लेकर छात्रों को क्षमा करने की कृपा करें।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co