पन्ना की बाघिन
पन्ना की बाघिनSocial Media

TIGRESS IN PANNA: आज माधव राष्ट्रीय उद्यान में छोड़ी जाने वाली बाघिन पकड़ से बाहर, रवानगी हो रही देरी

चंचल स्वभाव की यह बाघिन हाथी को देखकर दूर निकल जाती है, जिससे उसको ट्रैंक्युलाइज नहीं किया जा सका। अगर बाघिन नहीं मिली तो यहां से कोई दूसरी बाघिन को भेजा जाएगा।

पन्ना, मध्यप्रदेश। शिवपुरी के माधव राष्ट्रीय उद्यान में आज जिस एक युवा बाघिन को ले जाना था वह पन्ना टाइगर रिजर्व से अभी तक पकड़ में नहीं आ सकी है।

पन्ना की बाघिन
Gwalior : 27 साल पहले देखा सपना आज होगा साकार, माधव नेशनल पार्क में गूंजेगी टाईगर की दहाड़

सूत्रों के अनुसार यहाँ से ले जाने के लिए जिस बाघिन का चयन किया गया है, उसकी उम्र लगभग सवा दो साल है। इस बाघिन को ट्रैंक्युलाइज करने का हरसंभव प्रयास किया गया, लेकिन चंचल स्वभाव की यह बाघिन हाथी को देखकर दूर निकल जाती है, जिससे उसको ट्रैंक्युलाइज नहीं किया जा सका। नतीजतन नियत समय पर इस बाघिन की पन्ना से माधव नेशनल पार्क के लिए रवानगी नहीं हो सकी। पन्ना टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक ब्रजेन्द्र झा ने बताया कि बाघिन को ढूंढने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए हाथियों की मदद ली जा रही है, फिर भी अगर बाघिन नहीं मिली तो यहां से कोई दूसरी बाघिन को भेजेंगे।

27 साल बाद माधव राष्ट्रीय उद्यान में सुनाई देगी बाघ की दहाड़

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा गुरुवार को माधव राष्ट्रीय उद्यान में बाघ छोड़गे। माधव में पूरे 27 साल बाद एक बार फिर से बाघ की दहाड़ सुनाई देगी। माधव में 1990- 91 तक काफी संख्या में बाघ हुआ करते थे, लेकिन अंतिम बार 1996 में यहां बाघ देखा गया था।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co