उमा भारती ने एक के बाद एक किए कई ट्वीट
उमा भारती ने एक के बाद एक किए कई ट्वीटPriyanka Yadav-RE

उमा भारती ने की सीएम की नीतियों और विकास कार्यों की तारीफ, एक के बाद एक किए कई ट्वीट

मध्यप्रदेश: उमा भारती ने ट्वीट कर कहा- मुख्यमंत्री का यह कहना कि अफसर हमारे सामने प्रेज़ेंटेशन में एक सुंदर तस्वीर पेश करते हैं, लेकिन वह सच्चाई से दूर होती है। इस कन्फ़ेशन के लिए CM का अभिनंदन।

भोपाल, मध्यप्रदेश। अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का आज फिर बयान सामने आया है। एक के बाद एक कई ट्वीट कर उमा भारती ने सीएम शिवराज सिंह चौहान की नीतियों और विकास कार्यों की तारीफ की है।

इस कन्फ़ेशन (स्वीकारोक्ति) के लिए मुख्यमंत्री का अभिनंदन: CM

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने मुख्यमंत्री की नीतियों और विकास कार्यों की तारीफ करते हुए कहा कि, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री का यह कहना कि अफसर हमारे सामने प्रेज़ेंटेशन में एक सुंदर तस्वीर पेश करते हैं लेकिन वह सच्चाई से दूर होती है। इस कन्फ़ेशन (स्वीकारोक्ति) के लिए मुख्यमंत्री का अभिनंदन, ख़ुद अपने हाल ही के मध्यप्रदेश के भ्रमण के दौरान मैंने ऐसे ही कुछ सत्य देखे।

उमा भारती ने उदाहरण देते हुए बताया-

उमा भारती ने उदाहरण देते हुए बताया कि, अमरकंटक में कबीर चौरा पर महीनों से लाइट नहीं थी। मैंने मुख्यमंत्री कार्यालय फोन किया, लाइट तुरंत आ गई, अधिकारियों ने कहा, लाइट 24 घंटे से नही थी, जबकि हक़ीक़त में लाइट महीनों से नही थी। डिंडोरी जिले के शाहपुर की शराब की दुकान स्कूल से 50 मीटर के अंदर थी, जबकि मुख्यमंत्री जी बहुत पहले उसको हटाने का आदेश दे चुके हैं ।

मुझे अमरकंटक में वहां के लोगों ने जानकारी दी है की अभी कुछ वर्ष पहले हमारी ही सरकार के समय पर क़रीब 50000 बहुमूल्य साल वृक्षों को वन विभाग ने बीमार घोषित करके उनको काट डालने का फ़ैसला किया, ताकि बीमारी आगे ना फैले, लेकिन 50000 ( पचास हज़ार) के जगह 200000 (दो लाख) बहुमूल्य साल वृक्ष काट दिये गए। हमें मे कार्यकर्ता, विधायक, सांसद एवं संगठन का भी भरोसा करना होगा, कार्यकर्ता को आँख, ब्यूरोक्रेसी को हाथ, सरकार को पाँव, मुख्यमंत्री को मुख बनना होगा तो सत्य प्रत्यक्ष होगा, कार्यवाही उचित होगी और विकास की जड़ मज़बूत होगी। उमा भारती ने ट्वीट कर लिखा- मुखिया मुखु सो चाहिऐ, खान पान कहुँ एक। पालइ पोषइ सकल अँग, तुलसी सहित बिबेक॥

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co