Death in Maharashtra Government Hospital
Death in Maharashtra Government HospitalRaj Express

Death in Government Hospital : महाराष्ट्र के सरकारी अस्पताल में हुई मौतों को लेकर विपक्षी दल का प्रदर्शन

Death in Maharashtra Government Hospital : कुछ महीने पहले, महाराष्ट्र के नांदेड़ और छत्रपति संभाजीनगर जिलों के दो सरकारी अस्पतालों में बमुश्किल दो दिनों में 41 लोगों की मौत में सबको चौंका दिया था।

हाइलाइट्स

  • सरकारी अस्पताल में हुई मौतों को लेकर विपक्षी दल ने राज्य सरकार पर साधा निशाना।

  • विपक्षी दल ने राज्य सरकार और स्वास्थ्य मंत्री तानाजी सावंत के खिलाफ की नारेबाजी।

  • कुछ महीने पहले दो सरकारी अस्पतालों में हुई थी दो दिनों में 41लोगों की मौत।

Death in Maharashtra Government Hospital : मुम्बई। महाराष्ट्र के सरकारी अस्पतालों में हुई मौतों को लेकर विपक्षी दलों ने मंगलवार को राज्य सरकार और स्वास्थ्य मंत्री तानाजी सावंत के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

यह है विरोध प्रदर्शन की वजह :

दरअसल, कुछ महीने पहले, महाराष्ट्र के नांदेड़ और छत्रपति संभाजीनगर जिलों के दो सरकारी अस्पतालों में बमुश्किल दो दिनों में 41लोगों की मौत हुई थी, जिसमें 12 नवजात शामिल थे। इस आँकड़ें ने सबको चौंका दिया था। इसे लेकर उस वक्त उग्र विपक्ष ने इसे "हत्याएं" करार दिया और जिम्मेदार लोगों के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की मांग की थी।

जांच करने पर बताया गया कि, नांदेड़ के अस्पताल में दवाओं की कमी के कारण मरीजों की मौत हुई, सीके साथ ही मौतों के लिए साफ-सफाई को भी एक कारण बताया गया था। इसके बाद एनसीपी सांसद हेमंत पाटिल ने विष्णुपुरी स्थित अस्पताल का दौरा किया और विभिन्न विभागों में जाकर प्रत्यक्ष निरीक्षण किया। इस दौरे के दौरान कई वार्डों में टॉयलेट बंद मिले। कई जगहों पर देखा गया कि टॉयलेट में रखे सामानों को नष्ट कर दिया गया।

विपक्ष ने पहले भी साधा था निशाना

सरकारी अस्पतालों में अचानक हुई इतनी मौतों का आंकड़ा सामें आने के बाद विपक्ष के सभी नेताओं ने राज्य सरकार को घेरा था। जिसमें एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले, शिवसेना (UBT) अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, संजय राउत, कांग्रेस नेता नाना पटोले, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, महासचिव प्रियंका वाड्रा समेत कई नेताओं ने महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधा था।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co