महाराष्ट्र पूर्व CM उद्धव ठाकरे
महाराष्ट्र पूर्व CM उद्धव ठाकरेRaj Express

महाराष्ट्र पूर्व CM उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को कालाराम मंदिर में आरती के लिए किया आमंत्रित

President Murmu Invited For Kalaram Mandir MahaAarti : अयोध्या भगवान श्रीराम का जन्म क्षेत्र है तो नासिक - पंचवटी दंडकारण्य उनका कर्म क्षेत्र।

हाइलाइट्स :

  • उद्धव समर्थित शिवसेना कालाराम मंदिर में करेगी महाआरती।

  • देश की प्रथम नागरिक के रूप में राष्ट्रपति से नासिक आने का आग्रह।

  • 22 जनवरी को नासिक में भव्य आयोजन करेगी उद्धव समर्थित शिवसेना।

महाराष्ट्र। पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने भारत की प्रथम नागरिक राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को कालाराम मंदिर में आरती के लिए किया आमंत्रित किया है। उन्होंने कहा कि, अयोध्या में श्री राम का मंदिर बनते देखना उनके पिता बालासाहेब ठाकरे का भी स्वप्न था।अयोध्या में राम की जन्मस्थली है तो नासिक-पंचवटी दंडकारण्य श्री राम की कर्मस्थली है। इसी को ध्यान में रखते हुए उद्धव ठाकरे समर्थित शिवसेना ने 22 जनवरी को कालाराम मंदिर में महाआरती रखी है। इसी आरती में शामिल होने के लिए उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रपति मुर्मू को आमंत्रित किया है।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि, भगवान श्रीराम के आदर्श केवल हिंदू या हिंदुत्व तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि ये राष्ट्र की अस्मिता और आस्था के भी प्रतीक हैं। यहां महाराष्ट्र में भी आस्था पर्व की मंगल अभिलाषा की जा रही है। हमने 22 जनवरी के पावन उपलक्ष पर नासिक क्षेत्र में प्रभू श्रीराम के महापूजन और महाआरती का दिव्य संकल्प लिया है।

अयोध्या भगवान श्रीराम का जन्म क्षेत्र है तो नासिक - पंचवटी दंडकारण्य उनका कर्म क्षेत्र। उनके वनवास काल में यहां के आदिवासी-वनवासियों से आत्मीय संबंध रहे हैं। उन्होंने बहुत सी लीलाएं इसी क्षेत्र में की हैं, जिनके जीवंत प्रमाण आज भी यहां मौजूद हैं। उन्हीं प्रमाणों का प्रतीक रूप है नासिक का कालाराम मंदिर। हमारा आयोजन इसी धार्मिक व ऐतिहासिक महत्व वाले मंदिर में निर्धारित है।

राष्ट्रपति को कालाराम मंदिर में आमंत्रित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि, अतीत में भी सोमनाथ मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद जी के हाथों हुई थी। अर्थात, नासिक में आपकी उपस्थिति अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा की गरिमा भी बढ़ाएगी और राजेंद्र प्रसादजी द्वारा स्थापित परिपाटी को भी बरकरार रखेगी। अतः हमारा आग्रह और आमंत्रण है कि, देश की प्रथम नागरिक के रूप में आप नासिक पधारकर हमें अनुग्रहीत करें। हमें आशा ही नहीं, बल्कि पूर्ण विश्वास भी है कि आप इस कर्म प्रधान राष्ट्र में, कर्म योगी श्रीराम के कर्मक्षेत्र नासिक में पधारकर न केवल आदिवासी, सनातनी हिंदुओं को गौरवान्वित होने का अवसर देंगी, बल्कि 150 करोड़ देशवासियों में भी उमंग का संचार करेंगी

उद्धव ठाकरे द्वारा राष्ट्रपति को लिखा पत्र
उद्धव ठाकरे द्वारा राष्ट्रपति को लिखा पत्रRaj Express

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co