संजय राउत का बयान
संजय राउत का बयान Social Media

संजय राउत का बयान- कुछ लोग जिनका भारत 2014 के बाद बना, उन्हें इतिहास नहीं पता

शिवसेना (UBT) सांसद संजय राउत ने अपने बयान में कहा, "राम मंदिर राजनीति का विषय नहीं है, यह आस्था, अस्मिता और श्रद्धा का विषय है। राम मंदिर के निर्माण में हज़ारों कर सेवक शहीद हुए थे।

हाइलाइट्स :

  • संजय राउत बोले- राम मंदिर राजनीति का विषय नहीं

  • कुछ लोग जिनका भारत 2014 के बाद बना है उन्हें इतिहास नहीं पता: संजय राउत

  • संजय राउत का दावा- हम हिंदुत्व के भगोड़े नहीं है, हम मैदान में डटकर रहे और आखिर तक लड़े

महाराष्‍ट्र, भारत। मुंबई में शिवसेना (UBT) सांसद संजय राउत का बयान आया है, जिसमें उन्‍होंने राम मंदिर को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी, साथ ही इशारों-इशारों में तंज कसा है।

राम मंदिर राजनीति का विषय नहीं है :

शिवसेना (UBT) सांसद संजय राउत ने अपने बयान में कहा, "राम मंदिर राजनीति का विषय नहीं है, यह आस्था, अस्मिता और श्रद्धा का विषय है। राम मंदिर के निर्माण में हज़ारों कर सेवक शहीद हुए थे... कुछ लोग जिनका भारत 2014 के बाद बना है उन्हें इतिहास नहीं पता, ये लोग ना ही स्वतंत्रता संग्राम में रहे हैं ना ही किसी बड़े आंदोलन या संघर्ष में रहे हैं तो इन्हें राम मंदिर के संघर्ष के बारे में नहीं पता... हम हिंदुत्व के भगोड़े नहीं है, हम मैदान में डटकर रहे और आखिर तक लड़े।"

हमें किसी चेहरे के ज़रूरत नहीं है, जिस देश में तानाशाही होती है और उस तानाशाही का जो राजनीतिक दल होता है, वह दल अपने तानाशाह का चेहरा सामने लाता है। लोकतंत्र में कई चेहरे होते हैं, लोग किसी को भी चुन सकते हैं।

शिवसेना सांसद संजय राउत

तो वहीं, इसी के इस दिन पहले मंगलवार (26 दिसंबर) को शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता संजय राउत ने कहा था कि, "पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को अगले महीने राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए अयोध्या जाने के लिए निमंत्रण की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि शिवसेना का उत्तर प्रदेश के इस शहर से पुराना नाता है। जब भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने 1992 में बाबरी मस्जिद गिराने के लिए शिवसेना को जिम्मेदार ठहराया था, उस समय शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे ने इसकी जिम्मेदार ली थी।"

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co