ममता ने कहा कोरोना अचानक चुनौती बनाकर सामने आया
ममता ने कहा कोरोना अचानक चुनौती बनाकर सामने आया|Social Media
भारत

ममता ने कहा कोरोना अचानक चुनौती बनाकर सामने आया

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोरोना को अचानक से सामने आने वाली चुनौती बताते हुए, इससे निपटने के लिए लिए गए प्रयासों की सूचना दी।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राजएक्सप्रेस। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी अचानक चुनौती बनकर राज्य सरकार के सामने आई है।

ममता ने कहा, ''स्वास्थ्य और सुरक्षा में अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई), सेनिटाइजर और मास्क की बड़े पैमाने पर आवश्यकता है। लॉकडाउन के कारण कपड़ा और अन्य उद्योग बंद थे। श्रमिक अपने गृह प्रदेशों की ओर लौट रहे थे। यह एक बड़ी चुनौती थी। ये देश में निर्मित नहीं हो रहे इसलिए बहुराष्ट्रीय और विदेशी कंपिनयों को ऑर्डर देने शुरू किए गए।"

बनर्जी ने यहां जारी एक बयान में कहा, ''बंगाल ने इसके लिए बिल्कुल अलग रास्ता अपनाया है। हम इस संकट को अवसर की तरह देख रहे हैं। हमारी प्रथमिकता छोटे उद्योगों और स्व सहायता समूहों को बढ़ावा देना है। सरकार ने इन इकाइयों के साथ काम करना शुरू कर दिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों का पालन किया जा रहा है। एक गुणवत्ता नियंत्रण तंत्र को सर्वोत्तम गुणवत्ता वाली सामग्रियों की खरीद सुनिश्चित करने के लिए स्थापित किया गया है।"

उन्होंने आगे कहा कि इसके परिणामस्वरूप दो महीनों में 7.5 लाख पीपीई, 45 लाख मास्क, 2.6 लाख लीटर सेनिटाइजर का राज्य में उद्योग और स्व सहायता समूहों ने निर्माण किया। इसके अलावा सेनिटाइज़र की पैकेजिंग के लिए 15 लाख प्लास्टिक की बोतलों और ढक्कनों का निर्माण किया गया है। मास्क बनाने में लगे हुए करीब 2500 स्व सहायता समूहों को प्रशिक्षित किया गया है।

उन्होंने कहा कि हम प्रतिदिन 25000 पीपीई किट तैयार कर रहे है जो पूरे देश की पीपीई निर्माण क्षमता का लगभग 10 प्रतिशत है।

उन्होंने कहा कि अच्छी स्वास्थ्य सुविधा होने के बावजूद हमें इस चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्तर पर महामारी के प्रसार की चुनौतियों का सामना करने के लिए बड़े पैमाने पर वैश्विक रणनीति के इस्तेमाल की जरुरत है।

डिस्क्लेमर: यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co