Raj Express
www.rajexpress.co
Mission Chandrayaan-2
Mission Chandrayaan-2|Social Media
भारत

मिशन चंद्रयान-2 का संपर्क टूटा पर उम्मीद अब भी कायम

भारत के स्‍पेस मिशन चंद्रयान-2 का 2.1 किमी की दूरी से ISRO का संपर्क टूटने के बाद वैज्ञानिक व भारत के लोगों के चेहरे उदास हो गए हैं, लेकिन ये मिशन फेल नहीं हुआ है, इस पर अब भी उम्मीद कायम है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्स‍प्रेस। भारत का महत्वाकांक्षी मिशन 'चंद्रयान-2' का चांद की सतह से सिर्फ 2.1 किलोमीटर की दूरी से इसरो का संपर्क टूट गया और लैंडर का मिशन नियंत्रण कक्ष से संपर्क टूटते ही इसरो के अध्यक्ष डॉ. के शिवन सहित अन्य वैज्ञानिकों के चेहरे मुरझा गए, लेकिन अभी कुछ कहां नहीं जा सकता कुछ भी हो सकता हैं, अभी दुखी होकर हार नहीं माननी चाहिए, क्योंकि ये मिशन फेल नहीं हुआ है, सिर्फ संपर्क ही टूटा हैं, इस पर अभी भी हौसला और उम्मीद कायम हैं, जानिए लैंडिंग विक्रम से संपर्क टूटने के बाद अब आगे क्या होगा।

उम्‍मीद अभी भी कायम :

ISRO के वैज्ञानिकों का मानना है कि, अभी भी हम लैंडर से संपर्क कर सकते हैं, उनके पास दूसरे तमाम साधन भी हैं, वहां मौजूद दूसरे सैटेलाइट जो घूम रहे है, उनके द्वारा वहां नजर रखी जा सकती है और उसके जरिए ये भी पता लगाया जा सकता हैं कि, मिशन चंद्रयान-2 का लैंडर विक्रम अपने स्‍थान पर क्‍यों नहीं उतरा और क्‍यों नहीं लैंड कर सका, क्‍या जब वो वहां लैंडिग कर रहा था, तब वहां पर धूल बहुत ज्‍यादा थीं, जिससे उपकरण खराब हो गए या फिर ज्‍यादा ठंड होने के कारण, इसमें प्रॉब्लम आई, सवाल बहुत है, लेकिन जब तक इस पर कोई सहीं जानकारी नहीं मिल जाती, तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता।