श्रद्धा मर्डर केस से भी खौफनाक है इन हत्याकांड की कहानी
श्रद्धा मर्डर केस से भी खौफनाक है इन हत्याकांड की कहानीSyed Dabeer Hussain - RE

शव के 300 टुकड़े जंगल में फेंके, श्रद्धा मर्डर केस से भी खौफनाक है इन हत्याकांड की कहानी

आफताब ने श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े करके फ्रिज में रख दिए और उन टुकड़ों को 18 दिनों तक दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में फेंकता रहा। इस घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है।

राज एक्सप्रेस। राजधानी दिल्ली में हुए श्रद्धा मर्डर केस ने पूरे देश को हैरान करके रख दिया है। इस मामले को लेकर रोज ही नए-नए खुलासे हो रहे हैं। अपने बॉयफ्रेंड आफताब अमीन पूनावाला के साथ लिव-इन में रह रही श्रद्धा को उसी के बॉयफ्रेंड ने मौत के घाट उतार दिया। यही नहीं हत्या के बाद अफताब ने श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े करके फ्रिज में रख दिए और उन टुकड़ों को 18 दिनों तक दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में फेंकता रहा। इस घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। वैसे देखा जाए तो यह पहली बार नहीं है जब किसी ने ऐसी खौफनाक वारदात को अंजाम दिया हो।

पत्नी के किए 72 टुकड़े :

साल 2010 में देहरादून की एक पॉश कॉलोनी में रहने वाले सॉफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी ने झगड़ा होने पर अपनी पत्नी अनुपमा गुलाटी की बेरहमी से हत्या कर दी थी। इसके बाद उसने अपनी पत्नी के शव के 72 टुकड़े करके उन्हें अलग-अलग थैली में भरकर डीप फ्रीजर में छिपा दिया था। इसके बाद राजेश रोजाना एक थैली लेकर बाहर जाता और उन टुकड़ों को जंगल में फेंक देता था। राजेश शव का निचला हिस्सा ठिकाने लगा चुका था। फ्रिज में कुछ ही टुकड़े रह गए थे, लेकिन तभी अनुपमा का भाई देहरादून पहुंच गया और मामले का खुलासा हो गया। कोर्ट ने इस मामले को रेयर ऑफ रेयरेस्ट मानते हुए राजेश गुलाटी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

नीरज ग्रोवर मर्डर केस :

साल 2007 में हुए नीरज ग्रोवर मर्डर केस ने पूरे देश को सन्न करके रख दिया था। टीवी प्रोडक्शन हाउस में काम करने वाला नीरज एक दिन अपनी दोस्त मारिया की घर शिफ्टिंग में मदद करने के लिए उसके घर जाता है और रात को वहीं रुक जाता है। इसी दौरान मारिया को उसके मंगेतर मैथ्यू का फ़ोन आता है और वह नीरज की आवाज सुन लेता है। इस पर मैथ्यू मारिया से कहता है कि वह नीरज को घर भेज दे, लेकिन मारिया इंकार कर देती है। इसके बाद मैथ्यू उसी रात कोच्ची से फ्लाइट लेकर मुंबई आता है और सीधा मारिया के घर पहुँच जाता है। मारिया के घर पर मैथ्यू और नीरज के बीच झगड़ा होता है।

इस दौरान मैथ्यू गुस्से में चाकू मारकर नीरज की हत्या कर देता है। इसके बाद सबूत मिटाने के लिए मैथ्यू और मारिया नीरज की लाश के 300 टुकड़े करके उसे प्लास्टिक बैग में भरकर जंगल में ले जाते हैं और फिर अलग-अलग जगह बिखेर देते हैं। इसके अगले दिन से यह दोनों सामान्य जिंदगी जीने लगते हैं। कई दिनों तक नीरज का पता नहीं चलने पर पुलिस मामले की जाँच-पड़ताल करती है तो मामले का खुलासा होता है। कोर्ट ने इस मामले में मैथ्यू को उम्रकैद और सबूत मिटाने के आरोप में मारिया को 3 साल की सजा सुनाई थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co