Raj Express
www.rajexpress.co
National Tourism Day
National Tourism Day|Kavita Singh Rathore -RE
भारत

पर्यटन के महत्व को समझाता 'राष्ट्रीय पर्यटन दिवस'

दुनिया के कोने-कोने में रहने वाले हर एक व्यक्ति को घूमना-फिरना पसंद होता है, ऐसे ही लोगों और पर्यटन के महत्व को समझाने के लिए 'राष्ट्रीय पर्यटन दिवस' मनाया जाता है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • पर्यटन के महत्व को समझाता 'इंटरनेशनल टूरिज्म डे'

  • घूमना फिरना सभी को पसंद होता है

  • भारत में उपस्थित हैं प्रसिद्ध पूजनीय स्थल

  • भारत में उपस्थित हैं 10 खास पर्यटक स्थल

राज एक्सप्रेस। भारत के गौरव को बढ़ाने के लिए सालभर में एक ऐसा दिन भी आता है, जब हम अपने देश भारत में उपलब्ध गौरवान्वित करने वाली जगहों और प्रसिद्ध इमारतों से देश का गौरव बढ़ा सकते हैं और यह दिन आज अर्थात 25 जनवरी को "इंटरनेशनल टूरिज्म डे" यानी "राष्ट्रीय पर्यटन दिवस" के रूप में मनाया जाता है। वैसे तो घूमना फिरना सभी को पसंद होता है, लेकिन फिर भी यह दिन को पर्यटन के महत्व को समझाने के लिए मनाया जाता है। इन्हीं पर्यटक स्थलों का देश की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा योगदान होता है। जिसको हम विस्तार से समझेंगे। वहीं दुनिया में शायद ही कोई ऐसा इंसान होगा, जिसे घूमना-फिरना पसंद ना हो। हां, यदि किसी की कोई मजबूरी हो जिसके के कारण वो नहीं घूम-फिर पा रहा हो तो बात अलग हो जाती है। तो, आज का दिन ऐसे ही लोगों के नाम है, जो घूमने फिरने के शौकीन हैं।

भारत में घूमने की जगह :

वैसे तो यदि कोई व्यक्ति घूमने के लिए निकले तो पूरी दुनिया घूमने के लिए उम्र कम पड़ जाएगी, लेकिन यदि हम भारत की बात करें तो, मात्र पूरे भारत का भ्रमण करने में ही 1-2 साल का समय आसानी से लग जाएगा। भारत में घूमने के लिए बहुत सारी जगह हैं, आप चाहे भारत के जिस शहर में चले जाएं वहां आपको कोई ना कोई घूमने का स्थान जरूर मिल ही जाएगा। यदि हम शुरुआत जम्मू-कश्मीर से करें तो जम्मू कश्मीर को धरती का स्वर्ग माना गया है। हम कश्मीर से होते हुए कन्याकुमारी तक कई जगहों पर घूम सकते हैं। जिनमें दुनिया के 7 अजूबों में शामिल भारत की शान कहे जाने वाली 'ताजमहल' से लेकर क़ुतुब मीनार, पुराने प्रसिद्धि के किले जैसी इमारतें शामिल हैं।

पर्यटक स्थलों का अर्थव्यवस्था में योगदान :

पर्यटक स्थलों का भारत की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा योगदान है क्योंकि, भारत में कई राज्यों में ऐसे धार्मिक स्थल, आकर्षक स्थल, हाल ही में बनी सबसे लंबी इमारत (स्टेचू ऑफ़ यूनिटी) और ऐतिहासिक इमारतें उपस्थित हैं जिन्हें देशों-विदेशों से पर्यटक घूमने और देखने आते हैं। इतना ही नहीं भारत में दुनिया के सात अजूबों में से 1 अजूबा भी शामिल है और जब पर्यटक देश-विदेश से भारत में इन जगहों पर घूमने आते हैं, तो उनके द्वारा भारत सरकार को राजस्व में फायदा होता है, खास कर विदेशी पर्यटकों द्वारा देश के राजस्व में वृद्धि होती है।

भारत एक रहस्यमय देश :

भारत को ऋषि-मुनियों और कई अवतारों की भूमि माना जाता है साथ ही भारत एक रहस्यमय देश माना जाता है। वहीं भारत तीन तरफ से समुद्र से घिरा हुआ है। भारत में पर्यटक स्थलों की कोई कमी नहीं है। यहां एक ओर देखने लायक ऊंचे पहाड़ से लेकर गहरी बहती नदियां, घने जंगल, दूर-दूर तक फैले रेगिस्तान और बर्फ से ढंकी चट्टानों से लेकर दूध की चादर ओढ़े बड़े-बड़े समुद्र तक हैं। जगहों में जम्मू कश्मीर, दार्जिलिंग, असम, सिक्किम (7 सिस्टर्स) आदि पहाड़ी इलाके, राजस्थान के रेत से ढंके रेगिस्तान, सतपुड़ा के घने जंगल और भी कई प्रसिद्ध स्थान आते हैं। वहीं दूसरी ओर प्रसिद्ध पूजनीय स्थल से लेकर ऐतिहासिक इमारतें देखने लायक हैं।

भारत के प्रसिद्ध पूजनीय स्थल :

भारत में प्रसिद्ध पूजनीय स्थलों में चारों धाम- बद्रीनाथ, द्वारका, जगन्नाथ पुरी और रामेश्वरम के अलावा केदारनाथ, महाकालेश्वर मंदिर, वैष्णों माता मंदिर जैसे कई बड़े-बड़े मंदिर निर्मित हैं। वहीं भारत में कई जानी-मानी मस्जिदें जैसे जामा, ताज-उल-मस्जिद, कुव्‍वत-उल-इस्‍लाम, मोती मस्जिद और मुंबई की प्रसिद्ध हाजी अली की दरगाह उपस्थित है। वहीं भारत में ही सोने की परत चढ़ा विशाल गुरुद्वारा तो बड़ी-बड़ी मॉनेस्ट्री (मठ) भी उपस्थित हैं। जिनके दर्शन के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। बहुत कम शब्दों में कहें, तो भारत में घूमने और देखने के लिए सबकुछ है जो आँखों को सुकून दे सकें।

भारत के खास पर्यटक स्थल :

  1. कश्मीर का श्रीनगर

  2. राजस्थान का रेगिस्तान

  3. गुजरात का द्वारिका नगर

  4. दार्जिलिंग

  5. अमरकंटक

  6. केरल के पहाड़ और समुद्री किनारे

  7. अंदमान-निकोबार

  8. कन्याकुमारी

  9. अरुणाचल

  10. गया और बोधगया

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।