हिमाचल प्रदेश के 4 जिलों में कल से नाइट कर्फ्यू लागू
हिमाचल प्रदेश के 4 जिलों में कल से नाइट कर्फ्यू लागूPriyanka Sahu -RE

हिमाचल प्रदेश के 4 जिलों में कल से नाइट कर्फ्यू लागू

हिमाचल प्रदेश की सरकार ने कोविड-19 संक्रमण जारी कहर के मद्देनज़र अपने 4 ज़िलों में 24 नवंबर से नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है, जो रात 8 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा।

हिमाचल प्रदेश: त्यौहारी सीजन खत्‍म होने के बाद से देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से उछाल देखा जा रहा है, जिसके मद्देनजर कई राज्‍यों ने नाइट कर्फ्यू लागू किया है और अब हिमाचल प्रदेश की सरकार ने भी नाइट कर्फ्यू लागू करने का फैसला किया है।

प्रदेश के इन 4 जिलों में रहेगा नाइट कर्फ्यू :

दरअसल, कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल द्वारा ये तय किया है कि, प्रदेश के चार जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा और जिन जिलों में कर्फ्यू लागू होगा, उनमें कांगड़ा, शिमला, मंडी और कुल्‍लू जैसे जिले शामिल है। इस दौरान कर्फ्यू की अवधि रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक रहेगी।

कब तक रहेगा नाइट कर्फ्यू :

इस बारे में हिमाचल प्रदेश सरकार ने यह भी बताया है कि, प्रदेश के कांगड़ा, शिमला, मंडी और कुल्‍लू में 24 नवंबर से 15 दिसंबर तक रात्रि कर्फ्यू यानी नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश सरकार के फैसले के मुताबिक, 31 दिसंबर तक तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के केवल 50% कर्मचारियों को ही दफ्तर आने की अनुमति होगी। तो वहीं, मंत्रिमंडल ने शिक्षण संस्‍थान 31 दिसंबर तक बंद रखने का भी फैसला लिया है

शहरी विकास मंत्री ने बताया :

फैसलों की जानकारी देते हुए शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया- कुछ फैसले 15 दिसंबर तक के लिए हैं और कुछ 31 दिसंबर तक लागू रहेंगे। मुख्‍यमंत्री के अनुसार यह आवश्‍यक नहीं है कि शीतकालीन सत्र हो ही जाए। यह भी जरूरी नहीं कि शीतकालीन सत्र धर्मशाला में ही हो। सरकारी कार्यालयों में कर्मचारियों की संख्‍या आधी कर दी गई है। आधे कर्मचारी पहले तीन दिन आएंगे और आधे अगले तीन दिन मास्‍क न पहनने वाले को एक हजार रुपये जुर्माना भी किया जाएगा।

बता दें कि, केंद्र सरकार ने हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और मणिपुर के बाद उत्तर प्रदेश, पंजाब और हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण को थामने के लिए टीमें उतार दी हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर जारी बयान में कहा गया, ''राज्यों में भेजी गईं केंद्र सरकार की टीमें सबसे ज्यादा एक्टिव केस वाले जिलों में जाकर स्थानीय प्रशासन को मदद कर रही हैं, जैसे सर्विलांस, टेस्टिंग, संक्रमण नियंत्रण में उनकी भूमिका स्पष्ट है। उद्देश्य एक है, वायरस संक्रमण पर नियंत्रण पाना।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co