गृहमंत्री शाह ने 34 वें राज्य दिवस समारोह को किया संबोधित
गृहमंत्री शाह ने 34 वें राज्य दिवस समारोह को किया संबोधित|Social Media
उत्तर पूर्व भारत

अरुणाचल दिवस समारोह : गृहमंत्री शाह का 'धारा-371' पर बड़ा बयान

अरुणाचल प्रदेश के 34वें स्थापना दिवस पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ईटानगर पहुंचे और राज्य दिवस समारोह को संबोधित किया, तो वहीं शाह के इस दौरे से चीन बौखलाया व अरुणाचल को अपना हिस्सा बताया।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। अरुणाचल प्रदेश के 34वें स्थापना दिवस के इस विशेष मौके पर आज 20 फरवरी को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने अरुणाचल प्रदेश का दौरा किया। इस दौरान अमित शाह ने अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में राज्‍य दिवस समारोह को संबोधित करते हुए अपनी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कई बाते कहीं।

अमित शाह ने मंच पर पहुंचने के बाद अपने भाषण की शुरूआत में कहा आज अरुणाचल का स्थापना दिन है, सभी लोग हाथ उठाकर प्रचंड आवाज से बोलिये भारत माता की...जय। इसके बाद उन्‍होंने कहा- ''33 वर्ष पहले आज ही के दिन अरुणाचल राज्य की स्थापना हुई थी। मुझे हर्ष है कि विगत 6 वर्षों में केंद्र में श्री नरेन्द्र मोदी जी और यहां श्री पेमा खांडू जी के नेतृत्व में द्रुत गति से विकास कार्य हो रहे हैं।''

अगस्त में जब अनुच्छेद 370 को हटाने का फैसला लिया गया, तो नार्थ ईस्ट में भी अफवाहें और ग़लतफहमी फैलाई गई कि 370 के साथ ही 371 को भी हटा देंगे। मैं आज समग्र नार्थ ईस्ट को बताना चाहता हूं कि धारा 371 को कोई हटा नहीं सकता और न ही हटाने की किसी की मंशा है। नार्थ ईस्ट भारत के लिए हमेशा से बहुत महत्वपूर्ण रहा है, इस दुर्गम क्षेत्र में बसने वाली जनजातियां भारतीय संस्कृति के लिए एक श्रृंगार से कम नहीं हैं। भारत की संस्कृति नार्थ ईस्ट की संस्कृति के बिना अधूरी ही नहीं बल्कि अपंग भी है।
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह

अरुणाचल प्रदेश के 34वें राज्य दिवस समारोह को संबोधित करते हैं अमित शाह का वीडियो भी सामने आया है, जो आप यहां देख व सुन सकते हैं-

पेमा खांडू ने किया स्‍वागत :

गृहमंत्री अमित शाह के अरुणाचल प्रदेश पहुंचनेे पर मुख्यमंत्री पेमा खांडू के उनका स्वागत किया।

शाह के दौरे पर बौखलाया चीन :

वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के अरुणाचल प्रदेश का यह दौरा पड़ोसी मुल्क चीन को रास नहीं आया और वह बौखला गया। विरोध जताते हुए कहा कि, गृहमंत्री अमित शाह की यात्रा बीजिंग की क्षेत्रीय संप्रभुता का उल्लंघन है और आपसी राजनीतिक विश्वास पर प्रहार करती है।

अमित शाह की इस यात्रा पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान देते हुए कहा- वह इसका विरोध करते हैं, अरुणाचल प्रदेश दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा है और ऐसे में जबतक इसका हल नहीं निकल जाता, तो राजनीतिक यात्राओं से बचना चाहिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co