Bharat Jodo Nyay Yatra
Bharat Jodo Nyay YatraRaj Express

Bharat Jodo Nyay Yatra : मणिपुर में कांग्रेस को भारत जोड़ो न्याय यात्रा के लिए अब तक नहीं मिली अनुमति

Bharat Jodo Nyay Yatra : कांग्रेस अपनी यात्रा की शुरुआत मणिपुर से करना चाहती है। मणिपुर पिछले कई समय से हिंसा और तनाव के लिए चर्चा में बना हुआ है।

हाइलाइट्स :

  • कांग्रेस नेताओं ने की मणिपुर सीएम ऐन बीरेन सिंह से मुलाकात।

  • सुरक्षा कारणों के चलते स्थानीय प्रशासन ने अब तक नहीं दी अनुमति।

  • 14 जनवरी को मणिपुर की राजधानी इम्फाल से शुरू होनी है यात्रा।

मणिपुर। कांग्रेस द्वारा 14 जनवरी से शुरू होने वाली भारत जोड़ो न्याय यात्रा के लिए अब तक मणिपुर स्थानीय प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है। इस मुद्दे को लेकर मणिपुर कांग्रेस नेताओं ने बुधवार को सीएम ऐन बीरेन सिंह से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद भी मणिपुर में कांग्रेस को यात्रा की अनुमति मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं।

दरअसल कांग्रेस अपनी यात्रा की शुरुआत मणिपुर से करना चाहती है। मणिपुर पिछले कई समय से हिंसा और तनाव के लिए चर्चा में बना हुआ है। यहाँ से यात्रा की शुरुआत कर कांग्रेस लोकसभा चुनाव के लिए माहौल बनाना चाहती है। यात्रा से पहले स्थानीय प्रशासन की अनुमति की आवशयकता है लेकिन अब स्थानीय प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है।

मणिपुर कांग्रेस अध्यक्ष कीशम मेघचंद्र ने बुधवार को मणिपुर के सीएम से मिलकात की। इस मुलाकात के बाद मीडिया से चर्चा कर उन्होंने बताया कि, "आज मणिपुर कांग्रेस की एक टीम ने सीएम से मुलाकात की। उन्होंने कार्यक्रम स्थल के लिए अनुमति देने से इनकार कर दिया है...उन्होंने अनुरोध को अस्वीकार कर दिया। मेघचंद्र ने आगे कहा कि, "भले ही सरकार अनुमति न दे, हमने इस यात्रा की शुरुआत खोंगजोम युद्ध स्मारक परिसर, थौबल के पास एक निजी लेन पर करने का फैसला किया है। हम एआईसीसी टीम के साथ चर्चा कर रहे हैं।"

इस मामले में मंगलवार को मणिपुर मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह का बयान भी सामने आया था। उन्होंने कहा था कि, "मणिपुर में मौजूदा कानून-व्यवस्था की स्थिति बहुत गंभीर और संवेदनशील है। राहुल गांधी की रैली को अनुमति देने पर विचार चल रहा है, हम विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों से रिपोर्ट ले रहे हैं। रिपोर्ट मिलने के बाद हम कोई ठोस निर्णय लेंगे।”

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co