असम CM ने राहुल गांधी को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा वाले दिन बताद्रवा न जाने से क्यों किया मना?

Bharat Jodo Nyay Yatra: असम CM ने कहा, राम मंदिर के अभिषेक समारोह के दौरान बताद्रवा न जाएं, इससे असम की गलत छवि बनेगी। श्रीमंत शंकरदेव और श्री राम भगवान में कोई प्रतिस्पर्धा नहीं।
असम CM हिमंत बिस्वा सरमा, कांग्रेस नेता राहुल गांधी
असम CM हिमंत बिस्वा सरमा, कांग्रेस नेता राहुल गांधीRaj Express
Submitted By:
Deeksha Nandini

हाइलाइट्स

  • असम CM ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को दी चेतावनी।

  • कहा - 22 जनवरी को बताद्रवा न जाना।

  • असम की गलत छवि बनेगी।

असम। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को रविवार को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने 22 जनवरी को बताद्रवा न जाने की चेतावनी दी है। रविवार को मुख्यमंत्री सरमा ने पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि, हम राहुल गांधी से अनुरोध करेंगे कि वह सोमवार को राम मंदिर के अभिषेक समारोह के दौरान बताद्रवा न जाएं, इससे असम की गलत छवि बनेगी। श्रीमंत शंकरदेव और श्री राम भगवान में कोई प्रतिस्पर्धा नहीं है।

दरअसल, राहुल की भारत जोड़ो न्याय यात्रा इन दिनों असम में है। इस दौरान 22 जनवरी को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा वाले दिन कांग्रेस ने मोरीगांव, जागीरोड और नेल्ली के "संवेदनशील क्षेत्रों" का मार्ग चुना है। यह क्षेत्र संवेदनशील है, और यहाँ अकसर अप्रिय घटनाएं घटित होती है। इस पर सीएम सरमा ने कहा, 22 जनवरी को राहुल गांधी की यात्रा के दौरान अल्पसंख्यक बहुल इलाकों के संवेदनशील मार्गों पर कमांडो तैनात किए जाएंगे। इन क्षेत्रों के जिला आयुक्तों और पुलिस अधीक्षकों को गश्त बढ़ाने और कड़ी निगरानी बनाए रखने का निर्देश दिया गया है।

श्रीमंत शंकरदेव राज्य में एक प्रतीक के रूप में प्रतिष्ठित : मुख्यमंत्री सरमा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को 22 जनवरी में बटद्रवा में श्रीमंत शंकरदेव के जन्मस्थान पर जाने से बचना चाहिए, क्योंकि भगवान राम और मध्ययुगीन युग के वैष्णव संत के बीच कोई प्रतिस्पर्धा नहीं हो सकती है। जो राज्य में एक प्रतीक के रूप में प्रतिष्ठित हैं। मुख्यमंत्री सरमा ने कहा कि 22 जनवरी को राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान अल्पसंख्यक बहुल इलाकों के संवेदनशील मार्गों पर कमांडो तैनात किए जाएंगे। श्रीमंत शंकरदेव एक असमिया संत-विद्वान, सामाजिक-धार्मिक सुधारक, कवि, नाटककार और 15वीं-16वीं शताब्दी के असम के सांस्कृतिक और धार्मिक इतिहास में एक महान व्यक्ति हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co