J&K: महबूबा के बयान पर राजनीतिक हलचल तेज-BJP ने PDP दफ्तर पर फहराया तिरंगा

जम्मू कश्‍मीर की पूर्व CM और PDP की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती की रिहाई के बाद राजनीतिक हलचल तेज, आज श्रीनगर में लाल चौक पर BJP कार्यकर्ता तिरंगा फहराने पहुंचे व मुफ्ती के खिलाफ प्रदर्शन किया।
J&K: महबूबा के बयान पर राजनीतिक हलचल तेज-BJP ने PDP दफ्तर पर फहराया तिरंगा
J&K: महबूबा के बयान पर राजनीतिक हलचल तेज-BJP ने PDP दफ्तर पर फहराया तिरंगाSocial Media

जम्मू कश्मीर, भारत। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती की हाल ही में नज़रबंदी से रिहाई होने के बाद से घाटी में राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। दरअसल, महबूबा मुफ्ती द्वारा राष्ट्र ध्वज तिरंगे को लेकर दिए गए बयान पर जबरदस्‍त बवाल मचा हुआ है।

महबूबा के बयान पर BJP का हल्लाबोल :

PDP नेता महबूबा मुफ्ती द्वारा दिए गए बयान के बाद श्रीनगर में आज सोमवार सुबह भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कार्यकर्ताओं ने हल्‍ला बोला और महबूबा मुफ्ती के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसके अलावा कुपवाड़ा के बीजेपी कार्यकर्ता ने श्रीनगर की मशहूर लाल चौक पर पहुंचकर तिरंगा फहराकर उन्हें ये संदेश दिया है कि, 'हिंदुस्तान में सिर्फ तिरंगे की बात होगी और किसी भी झंडे के लिये यहां कोई स्थान नहीं है।'

क्‍या है मामला :

बता दें, जम्मू कश्मीर में जब से अनुच्छेद 370 हटाया गया है, तभी से महबूबा मुफ्ती और फारूख अब्दुल्ला बौखलाए हुए हैं। इसी के चलते इन नेताओं को नजरबंद भी किया था, लेकिन अब रिहाई होने के बाद फिर विवाद होने लगा। तो वहीं, महबूबा मुफ्ती ने हाल ही में तिरंगे को लेकर आपत्तिजनक बयान भी दिया था, जिसके करारा जवाब भाजपा ने दिया और सोमवार को सैकड़ों की संख्‍या में BJP कार्यकर्ता ने महबूबा मुफ्ती के खिलाफ नारेबाजी की और वंदे मातरम का जयघोष किया।

हालांकि, इस दौरान पीडीपी दफ्तर पर जब भाजपा कार्यकर्ता तिरंगा फहराने की कोशिश की, तो भारी संख्‍या में तैनात पुलिसकर्मियों ने उन्‍हें रोक दिया। यहां पर काफी देर तक पीडीपी नेताओं और कार्यकर्ताओं के बीच बहस होती रही।

महबूबा मुफ्ती का आपत्तिजनक बयान :

दरअसल, पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने अपने बयान में कहा था, ‘‘मैं जम्मू-कश्मीर के अलावा दूसरा कोई झंडा नहीं उठाऊंगी, जिस वक्त हमारा ये झंडा वापस आएगा, हम उस (तिरंगा) झंडे को भी उठा लेंगे. मगर जब तक हमारा अपना झंडा, जिसे डाकुओं ने डाके में ले लिया है, तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगे। वो झंडा हमारे आईन का हिस्सा है, हमारा झंडा तो ये है, उस झंडे से हमारा रिश्ता इस झंडे ने बनाया है।’’

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co